Asianet News HindiAsianet News Hindi

अब घर में भी सिगरेट पीने पर होगी 6 साल की जेल, इस देश ने लागू किया कानून

सार्वजनिक स्थानों पर स्मोकिंग पर ज्यादातर देशों में पाबंदी लगा दी गई है, लेकिन थाईलैंड ऐसा पहला देश है, जिसने घर में भी स्मोकिंग करने पर 6 साल की जेल की सजा दिए जाने का कानून बनाया है।

cigarette smokers will be imprisoned for 6 years, this country has implemented law
Author
Bangkok, First Published Aug 25, 2019, 2:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बैंकॉक। सार्वजनिक स्थलों पर स्मोकिंग पर पाबंदी ज्यादातर देशों में लगा दी गई है, लेकिन घरों में इस पर बैन नहीं है। वहीं, होटलों और कुछ खास जगहों पर स्मोकिंग जोन भी बने होते हैं, जहां लोग सिगरेट पीते हैं। लेकिन थाईलैंड ने सख्त कदम उठाते हुए अब घरों में भी धूम्रपान पर पाबंदी लगा दी है। इस कानून के तहत अगर कोई शख्स अपने घर पर भी सिगरेट पीता पकड़ा जाता है, तो उसे 6 साल की सजा होगी और जुर्माना भी देना होगा। 

क्या है कानून
यह नया कानून थाईलैंड में पिछले बुधवार से लागू कर दिया गया है। इसे फैमिली प्रोटेक्शन एंड डेवलपमेंट प्रमोशन एक्ट नाम दिया गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की एक रिपोर्ट के अनुसार, थाईलैंड में हर साल स्मोकिंग की वजह से 6 लाख लोगों की मौत होती है। इनमें बच्चों की संख्या ज्यादा होती है। उल्लेखनीय है कि थाईलैंड में स्मोकिंग की लत काफी तेजी से फैली और बच्चे तक इसकी चपेट में आ गए। इसलिए थाईलैंड सरकार ने घरों में भी स्मोकिंग करने पर सजा देने का इतना कड़ा फैसला लिया।

बैंकॉक में हुई टुबैको एंड लंग हेल्थ कॉन्फ्रेंस
बैंकॉक में हुई टुबैको एंड लंग हेल्थ कॉन्फ्रेंस में वुमंस एंड फैमिली डेवलपमेंट की चीफ लेर्टपान्या बूरानाबंडित ने कहा कि घरों में स्मोकिंग करने पर उन लोगों पर भी बुरा असर होता है, जो स्मोकिंग नहीं करते। सिगरेट और सिगार का धुआं उन लोगों की सांसों में भी पहुंच जाता है, जो आसपास होते हैं। इसे देखते हुए यह कानून बनाया गया। उन्होंने कहा कि घरों में धूम्रपान करने पर केस क्रिमिनल कोर्ट और सेंट्रल जुवेनाइल एंड फैमिली कोर्ट में चलेंगे। 

क्या कहना है विशेषज्ञों का
विशेषज्ञों का कहना है कि थाईलैंड में धूम्रपान की लत हद से ज्यादा बढ़ती जा रही थी। इससे हेल्थ को नुकसान तो हो ही रहा था, इमोशनल और फिजिकल वॉयलेंस भी बढ़ रहा था। उन्होंने कहा कि एक सर्वे से यह पता चला कि 49 लाख घरों में कोई न कोई सिगरेट पीता है। टुबैको कंट्रोल रिसर्च एंड नॉलेज मैनेजमेंट सेंटर के प्रमुख रोनानाचाई खोंगसकोन ने कहा कि पिछले साल करीब 8, 278 लोगों की मौत सेकंड हैंड स्मोकिंग से हुई है। उन्होंने कहा कि एक स्टडी से पता चला है कि 33 फीसदी लोग अपने घरों में धूम्रपान करते हैं। धूम्रपान करने वालों में 74 फीसदी लोग तो रोज ही घर में सिगरेट-सिगार पीते हैं। एक दूसरे विशेषज्ञ ने कहा कि थाईलैंड में करीब 10 लाख से भी ज्यादा लोगों को स्मोकिंग की लत घर में किसी न किसी के सिगरेट पीने से लगी है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios