Asianet News Hindi

पाकिस्तानी फैशन डिजाइनर ने ब्राइडल कलेक्शन पेश करते हुए लोगों से कहा - नहीं लें दहेज, मैसेज हुआ वायरल

पाकिस्तानी फैशन डिजाइनर अली जीशान (Ali Xeeshan) ने अपना नया ब्राइडल कलेक्शन लॉन्च करते हुए दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान छेड़ा है। अली जीशान ने 'यूनाइटेड नेशन्स एंटिटि फॉर जेंडर इक्वालिटी एंड द इम्पावरमेंट ऑफ वुमन ऑफ पाकिस्तान' के साथ मिल कर दहेज प्रथा के खिलाफ यह अभियान शुरू किया।
 

Fashion designer Ali Xeeshan urge people to say no to dowry with latest bridal collection MJA
Author
Islamabad, First Published Feb 13, 2021, 6:17 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इंटरनेशनल डेस्क। पाकिस्तानी फैशन डिजाइनर अली जीशान (Ali Xeeshan) ने अपना नया ब्राइडल कलेक्शन लॉन्च करते हुए दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान छेड़ा है। अली जीशान ने 'यूनाइटेड नेशन्स एंटिटि फॉर जेंडर इक्वालिटी एंड द इम्पावरमेंट ऑफ वुमन ऑफ पाकिस्तान' के साथ मिल कर दहेज प्रथा के खिलाफ यह अभियान शुरू किया। जीशान ने अपने ब्राइडल कलेक्शन का टाइटल 'नुमाइश' (Numaish) रखा है। इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं।

क्या दिखाया गया तस्वीरों और वीडियो में
जीशान के कलेक्शन की तस्वीरों और वीडियो में दिखाया गया है कि एक दुल्हन लाल लहंगा-चुन्नी पहने हुए एक गाड़ी को खींच रही है, जिस पर उसके माता-पिता का दिया दहेज का सामाना रखा है और दूल्हा उस पर बैठा है। दुल्हन को गाड़ी खींचने में काफी परेशानी हो रही है और उसकी आंखों से आंसू निकल रहे हैं। यह एक सिम्बॉलिक तस्वीर है। 

क्या कहा जीशान ने
जीशान ने कहा कि पाकिस्तानी परिवार अपनी जिंदगीभर की मेहनत की कमाई को बेटी की शिक्षा पर खर्च करने की जगह उसके लिए दहेज जुटाने में लगे रहते हैं, जबकि शिक्षा का महत्व कहीं ज्यादा है। यह दहेज प्रथा के खिलाफ जीशान का सबसे नया कलेक्शन है। इसे यूएन वुमन पाकिस्तान (UN Women Pakistan) के साथ मिल कर 'पैंटीन हम ब्राइडल कॉउचर वीक' 2021 (Pantene HUM Bridal Couture Week 2021) में लॉन्च किया गया। इस अभियान के तहत लोगों से कहा जाता है कि वे दहेज लेना और देना बंद करें।

जीशान ने इंस्टाग्राम पर अपलोड किया वीडियो
डिजाइनर जीशान ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम पेज पर इससे जुड़ा वीडियो अपलोड किया है। इसमें यह दिखाया गया है कि दहेज लोगों के लिए कितना बड़ा बोझ बनता जा रहा है। जीशान ने कहा कि जो खर्च लड़कियों की शादी में दहेज पर किया जाता है, वही अगर उनकी शिक्षा पर किया जाए तो उन्हें आगे बढ़ने और आत्मनिर्भर बनने में मदद मिलेगी।  


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios