Asianet News Hindi

ऐप बैन के बाद चीन की अकल आई ठिकाने; कहा, भारत को खतरा नहीं मानते, हमारे रिश्ते 1000 साल पुराने

भारत सरकार ने चीन को कड़ा संदेश देते हुए 118 और चीनी ऐप को बैन कर दिया। दोनों देशों में चल रहे विवाद के बीच भारत सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों से चीन परेशान है। ऐसे में चीन ने अब भारत से रिश्तों की दुहाई दी है। इतना ही नहीं चीन को मुश्किल वक्त में गुरुदेव रबिंद्रनाथ टैगौर, योग और आमिर खान की दंगल फिल्म याद आ रही है। 

India Ban PUBG and other 117 App China Speaks On Dangal Film And Rabindranath Tagore KPP
Author
Beijing, First Published Sep 4, 2020, 1:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भारत सरकार ने चीन को कड़ा संदेश देते हुए 118 और चीनी ऐप को बैन कर दिया। दोनों देशों में चल रहे विवाद के बीच भारत सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों से चीन परेशान है। ऐसे में चीन ने अब भारत से रिश्तों की दुहाई दी है। इतना ही नहीं चीन को मुश्किल वक्त में गुरुदेव रबिंद्रनाथ टैगौर, योग और आमिर खान की दंगल फिल्म याद आ रही है। 

चीन का कहना है कि भारत और चीन के रिश्ते 1000 साल पुराने हैं। इतना ही नहीं चीन ने कहा, हम भारत को कभी खतरा नहीं मानते। विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनियांग ने कहा, ये सभी को याद रखना चाहिए कि भारत और चीन के करीबी और ऐतिहासिक रिश्ते हैं। 

भारत और चीन प्राचीन सभ्यताएं
चुनियांग ने कहा, भारत और चीन प्राचीन सभ्याताएं हैं। कुछ वक्त के फायदे के लिए कदम उठाने से पहले हमें भविष्य की ओर देखना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कहा, भारत से चीन के रिश्ते 1000 साल से ज्यादा पुराने हैं। चीन में  रबिंद्रनाथ टैगौर काफी मशहूर हैं। चीन में योग और दंगल मूवी को भी लोग काफी पसंद करते हैं। उम्मीद है कि भारत इसे समझेगा। 

अमेरिका के इशारे पर कार्रवाई
विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता चुनियांग ने कहा, भारत चीनी ऐप्स पर बैन लगाकर अपने नागरिकों को नुकसान पहुंचा रहा है। वहीं, इससे हमारी कंपनियों को भी घाटा हो रहा है। चुनियांग ने कहा, भारत का यह फैसला उस दिन आया, जब अमेरिका ने दूसरे देशों से ऐसा करने को कहा। 

पहले कहा था- भारत ने गलत इरादे से की कार्रवाई
इससे पहले भारत द्वारा 118 चीनी ऐप्स पर बैन का कदम उठाने के बाद चीन की कॉमर्स मिनिस्ट्री की ओर से बयान आया था। मंत्रालय के प्रवक्ता गाओ फेंग ने कहा, भारत ने गलत इरादे से चीनी कंपनियों पर कार्रवाई की। यह वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गनाइजेशन के नियमों के खिलाफ है। इतना ही नहीं मंत्रालय ने कहा था कि भारत अपनी गलती सुधारे।

"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios