Asianet News HindiAsianet News Hindi

प्लीज आर्मी भेजिए: बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान 'मां' की झांकियों पर हमला; हिंसक झड़प में 4 की मौत

बांग्लादेश के इतिहास में 13 अक्टूबर सबसे बदनाम दिवस के तौर पर दर्ज हो गया। इस्लामिक कट्टरपंथियों ने दुर्गा पूजा के दौरान चांदपुर जिले में कई हिंदू मंदिरों पर हमला कर दिया। इस हिंसक झड़प में 4 लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में 100 लोगों को अरेस्ट किया है।

Islamic fundamentalists attack on Goddess Durga pandal on Navratri in Bangladesh, three killed in violence
Author
Bangladesh, First Published Oct 14, 2021, 3:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बांग्लादेश. नवरात्र के मौके पर पड़ोसी देश बांग्लादेश से एक शर्मनाक घटना सामने आई है। 13 अक्टूबर को चांदपुर जिले में इस्लामिक कट्टरपंथियों(Islamic fundamentalists) ने दुर्गा पूजा के दौरान कई पंडालों पर हमला कर दिया। मूर्तियां नाले में बहा दीं। लाठियों से मूर्तियां तोड़ डालीं। कई हिंदू मंदिरों पर हमले की खबर है। इस हिंसक झड़प में 4 लोगों की गोली लगने से मौत हो गई।

वीडियो वायरल करने वाले शख्स को हिरासत में लिया, 22 जिलो में  जवान तैनात
कोमिला पूजा स्थल पर पहला वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले शख्स को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस का कहना है कि हिंदू मंदिरों और दुर्गा पूजा स्थलों पर हमला करने वालों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। उप महानिरीक्षक (DIG) अनवर हुसैन ने गुरुवार को कोमिला में मीडिया से कहा कि हिंसा में शामिल 100 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। हमलावरों की पहचान के लिए CCTV फुटेज खंगाले जा रहे हैं। हिंदू मंदिरों पर हमले के बाद सरकार ने 22 जिलों में बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) के जवानों को तैनात किया है। हुसैन ने कहा कि यह घटना तनाव को भड़काने की एक साजिश थी। कोमिला मंदिर का दौरा करने के बाद उन्होंने कहा, कथित तौर पर पवित्र कुरान को बदनाम करने के लिए बुधवार को सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट वायरल की गई थीं। पुलिस ने फ़ैज़ उद्दीन को हिरासत में लिया है, जिसने शुरू में सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट किया था।

बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने मांगी आर्मी से मदद
अष्टमी के दिन जब हिंदू लोग पंडालों में पूजा-अर्चना कर रहे थे, तभी कट्टरपंथियों की भीड़ ने कई मंदिरों पर हमला कर दिया। इसके बाद बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने tweet करके प्रधानमंत्री शेख हसीना से मदद की मांग की है। इसमें कहा गया कि हिंदुओं की सुरक्षा कराई जाए। अगर बांग्लादेश के मुसलमान नहीं चाहते कि हिंदू पूजा करें, तो नहीं करेंगे। लेकिन हिंदुओ को बचा लीजिए। प्लीज आर्मी भेजिए।

 pic.twitter.com/8jm1LCJbVA

 pic.twitter.com/jOuRhAJekj

pic.twitter.com/YZ2F36DEPH

शांति बनाए रखने की अपील
बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल(Bangladesh Hindu Unity Council) ने tweet करके लिखा-हम सभी मुस्लिम भाइयों से कहना चाहेंगे कि अफवाहों पर विश्वास न करें। हम कुरान का सम्मान करते हैं। दुर्गा पूजा में कुरान की कोई जरूरत नहीं है। यह कोई दंगा भड़काने की साजिश कर रहा है। निष्पक्ष जांच होगी। कृपया किसी और मंदिरों और हिंदुओं पर हमला न करें।

कुरान के अपमान की अफवाह फैलाई
बताया जाता है कि हिंसा के पीछे कुरान के अनादर की अफवाह रही है। किसी ने उपद्रव कराने की साजिश के तहत अफवाह फैला दी कि दुर्गा पूजा के दौरान कुरान रखी गई है। इस पर बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने कहा कि यह सिर्फ दंगा भड़कोन की साजिश है। उपद्रवियों ने कोमिला(Comilla) में नानुआ दिघी पार(Nanua Dighi par) के पूजा मंडप पर हमला किया गया। कोमिला में सभी हिंदुओं को सतर्क रहने की हिदायत दी जा रही है। उनसे कहा जा रहा है कि वे एक साथ मंदिर में रहें। हालांकि अब सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाल लिया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios