Asianet News HindiAsianet News Hindi

Indonesia में आया 6 तीव्रता का भूकंप, न मिली नुकसान की जानकारी, सुनामी का खतरा नहीं

इंडोनेशिया में रिक्टर पैमाने पर 6 की तीव्रता का भूकंप (Earthquake) आया है। भूकंप का केंद्र टोबेलो से 259 किलोमीटर उत्तर में था। जानमाल के नुकसान की जानकारी नहीं है। भूकंप की वजह से लोग डर के मारे घरों से बाहर निकल आए।

Magnitude 6 earthquake occurs 259 km north of Tobelo in Indonesia
Author
Jakarta, First Published Dec 5, 2021, 6:57 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जकार्ता। इंडोनेशिया (Indonesia) में रविवार सुबह 5:17 बजे भूकंप आया। अमेरिका के जियोलॉजिकल सर्वे (US Geological Survey) से मिली जानकारी के अनुसार रिक्टर पैमाने पर 6 की तीव्रता का भूकंप (Earthquake) आया था। भूकंप का केंद्र टोबेलो से 259 किलोमीटर उत्तर में उत्तर सुलावेसी प्रांत के हैल्माहेरा में था। फिलहाल जानमाल के नुकसान की जानकारी नहीं मिली है। 

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे (यूएसजीएस) के मुताबिक भूकंप की गहराई 174.3 किमी थी। मौसम विज्ञान और भूभौतिकी एजेंसी डेरियोनो (Meteorology and Geophysics agency daryono) के सुनामी शमन विभाग (Tsunami Mitigation Division) के अनुसार भूकंप के चलते सुनामी आने की आशंका नहीं है। इसलिए सुनामी की चेतावनी जारी नहीं की गई है। भूकंप की वजह से लोग डर के मारे घरों से बाहर निकल आए।

सबसे ऊंचा ज्वालामुखी फूटा
बता दें कि इंडोनेशिया के सबसे घनी आबादी वाले द्वीप जावा में शनिवार को सबसे ऊंचा ज्वालामुखी फूट पड़ा था, जिससे एक ग्रामीण की झुलसने से मौत हो गई थी और 41 अन्य व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। पूर्वी जावा प्रांत के लुमाजांग जिले में स्थित माउंट सेमेरु के अचानक फूटने से इसके ढलानों के आसपास के कई गांवों में इससे निकलने वाली राख भर गई है।

अक्टूबर में भी आया था भूकंप
इसी साल 16 अक्टूबर को इंडोनेशिया के बाली द्वीप में भूकंप आया था, जिससे तीन लोगों की मौत हो गई थी। भूकंप की तीव्रता 4.8 मापी गई थी। भूकंप बाली के पत्तन शहर सिंगराजा के पूर्वोत्तर में 62 किलोमीटर की दूरी पर और दस किलोमीटर की गहराई पर आया था। इसके बाद 4.3 की तीव्रता का एक झटका 282 किलोमीटर की गहराई पर आया था।

इसलिए इंडोनेशिया में आते हैं अधिक भूकंप 
इंडोनेशिया 'रिंग ऑफ फायर' में स्थित है। प्रशांत महासागर के किनारे-किनारे स्थित यह इलाका दुनिया का सबसे खतरनाक भू-भाग है। यहां ज्वालामुखी फटने से भूकंप से झटके आते हैं। इससे आस-पास के इलाकों में सुनामी भी आती है। यह इलाका करीब 40 हजार वर्ग किमी में फैला हुआ है। विश्व के कुल एक्टिव ज्वालामुखी में से 75% यहीं पर हैं। जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ अमेरिका की रिपोर्ट के अनुसार इसी इलाके में दुनिया के 90 फीसदी भूकंप आते हैं। बड़े भूकंपों में से भी 81 फीसदी इसी इलाके में आते हैं।

2004 में आई थी बड़ी सुनामी
2004 में इंडोनेशिया में रिक्टर स्केल पर 9.1 का भूकंप आया था। इसके चलते बड़ी सुनामी आई थी, जिसका असर दुनिया के 14 देशों में पड़ा था। सुनामी ने इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप को तबाह कर दिया था। इस प्राकृतिक आपदा से सुमात्रा में 1 लाख 68 हजार लोगों की मौत हुई थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios