Asianet News HindiAsianet News Hindi

इमरान ने गरीबी दूर करने के लिए दी सोन चिरैया के शिकार की मंजूरी, इससे शेख बढ़ाते हैं सेक्स पावर

आर्थिक तंगी से जूझ रहा पाकिस्तान खाड़ी देशों को खुश करने के लिए हर तरीके का हथकंडा अपनाता है। इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ। दरअसल, पाकिस्तान की इमरान सरकार ने बहरीन के राजा शेख हमाद बिन सलमान अल खलीफा परिवार को बेजुबान सोन चिरैया के शिकार को मंजूरी दी है।

Pakistan PM Imran allows hunting of houbara bustard for money KPP
Author
Islamabad, First Published Dec 25, 2019, 12:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इस्लामाबाद. आर्थिक तंगी से जूझ रहा पाकिस्तान खाड़ी देशों को खुश करने के लिए हर तरीके का हथकंडा अपनाता है। इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ। दरअसल, पाकिस्तान की इमरान सरकार ने बहरीन के राजा शेख हमाद बिन सलमान अल खलीफा परिवार को बेजुबान सोन चिरैया के शिकार को मंजूरी दी है। 

पाकिस्तान में संरक्षित होऊबारा बस्टर्ड (सोन चिरैया) को लुप्तप्राय माना जाता है। इसके बावजूद बहरीन के शाही परिवार के 7 सदस्यों को 100-100 सोन चिरैया के शिकार की मंदूरी दी गई है। इसके लिए पाकिस्तान सरकार ने हर चिड़िया के लिए 2-2 करोड़ रुपए बसूले हैं। इससे पहले कतर के शेख और राजघराने के नौ अन्य सदस्यों को शिकार की परमिट दी गई थी। 

विरोध के बावजूद सरकार ने दी मंजूरी
पाकिस्तान के लोग लगातार सोन चिरैया के शिकार की मंजूरी का विरोध करते रहे हैं। यहां तक की जब इमरान विपक्ष में थे, तब उन्होंने इसे राष्ट्रीय शर्म कहा था। लेकिन अब उनकी पार्टी सत्ता में है तो उन्होंने भी शेखों को शिकार की मंजूरी दी। 

पाकिस्तान के मध्य एशियाई क्षेत्र में आती हैं सोन चिरैया
पाकिस्तान में आम लोगों को सोन चिरैया के शिकार की अनुमति नहीं है। यह चिड़िया नवंबर से जनवरी के दौरान पाकिस्तान के मध्य एशियाई क्षेत्र में आती हैं। यहां मौसम थोड़ा गर्म रहता है। हालांकि, सोन चिरैया की आबादी लगातार घटती जा रही है। 

शेख सेहत के लिए फायदेमंद मानते हैं
अरब के शेखों को सोन चिरैया का शिकार काफी पसंद है। वे इसके मांस को सेहत के लिए फायदेमंद मानते हैं। शेखों का मानना है कि इससे सेक्स पावर बढ़ती है। पाकिस्तान सरकार अरब देशों की खिदमत के लिए शिकार की अनुमति देती है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios