एजेंसी. नाईजीरिया में मंगलवार को जेल तोड़कर करीब 2,000 कैदी फरार हो गए हैं। कैदियों की इस पहल को पुलिस बर्बरता के खिलाफ विद्रोह के रूप में देखा जा रहा है। कैदियों द्वारा जेल तोड़ने की यह घटना तब सामने आई जब पुलिस सुधार को लेकर देश के कई इलाकों में प्रदर्शन की खबरें सामने आईं। वहीं, लेक्की में एक प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने गोलियों से कई लोगों को भून डाला। जिसके बाद लोगों का गुस्सा फूट पड़ा।

दंगा रोधी विभाग के पुलिस महानिरीक्षक ने नाइजीरिया की जेलों के आसपास सुरक्षा को मजबूत करने का आदेश दिया है। पुलिस ने एक बयान में कहा कि लोगों की जिंदगी और संपत्ति को और नुकसान पहुंचने से रोकने के लिए बल अब कानून की पूरी ताकत का इस्तेमाल करेगा। लागोस राज्य के गवर्नर बाबाजीडे सानवो-ओल्यू ने ट्विटर पर कहा कि पुलिस की बर्बरता के खिलाफ यह प्रदर्शन हमारे समाज की सलामती के लिए खतरा बनते जा रहे हैं।

गृह मंत्रालय ने की पुष्टि 
गृह मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद मंगा ने मंगलवार को बताया कि हथियारों से लैस भीड़ ने दो जेलों पर हमला कर दिया। इसके बाद से 1993 कैदी गायब हैं। यह पता नहीं है कि हमले से पहले जेल में कुल कितने कैदी थे। मानवाधिकार समूह लंबे समय से विशेष डकैती-रोधी दस्ते पर जबरन वसूली, उत्पीड़न, यातना और हत्याओं का आरोप लगाते रहे हैं। यही वजह है कि कई युवा प्रदर्शनकारी पुलिस सुधार की मांग कर रहे हैं।