Asianet News HindiAsianet News Hindi

रशिया की Perm University में फायरिंग; 8 की मौत, शूटर ने सोशल मीडिया पर लिखा-नफरत से भर गया था

रशिया में सोमवार को एक shocking crime सामने आया है। यहां पर्म यूनिवर्सिटी (Perm University) में एक छात्र ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इसमें 8 स्टूडेंट्स की मौत हो गई।

Russia Firing at Perm University, 8 students killed, 6 injured
Author
Moscow, First Published Sep 20, 2021, 3:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मॉस्को, रशिया. यहां की पर्म यूनिवर्सिटी (Perm University) में  सोमवार को फायरिंग में 8 स्टूडेंट्स की मौत की खबर है। 24 छात्र घायल हुए हैं। शूटर कोई और नहीं, यूनिवर्सिटी का ही एक छात्र है। घटना का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें फायरिंग से बचने स्टूडेंट्स बिल्डिंग से कूदते दिखाई दे रहे हैं। बाद में पुलिस ने शूटर को गोली मारकर घायल करने के बाद पकड़ लिया। बता दें कि इससे पहले मई 2021 में 19 साल के एक लड़के ने कजान ( central city of Kazan) में अपने पुराने स्कूल में खुलेआम फायरिंग कर दी थी। इसमें 9 लोग मारे गए थे। twitter पर एक यूजर ने हमलावर की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा गया- यह स्टैंडर्ड (standard) 12G shotgun, जैसे-टार्गेट X7 या इससे मिलता-जुलता मॉडल नजर आता है। यह आसानी से मिल जाता है।

pic.twitter.com/0tc46ZUbPM

आखिर क्यों की फायरिंग?
हमलावर की पहचान 18 साल के तिमूर बेकमांसुरोव के तौर पर हुई है। उसने फायरिंग किस मकसद से की, इसका अभी पता नहीं चल पाया है। लेकिन उसकी फायरिंग के चलते कई स्टूडेंट्स पहली मंजिल से नीचे कूदते दिखाई दिए। इनमें से कई गिरकर घायल हो गए। 

यह भी पढ़ें-तालिबान V/s मुजाहिदीन: जिन हथियारों से अमेरिका-रूस तक War न जीत सके; उन्हीं से अब ये एक-दूसरे से लड़ रहे

कैसे पहुंचा हथियार
रूस में हथियारों की खरीद-फरोख्त आसान नहीं है। हमलावर तक हथियार कैसे पहुंचा, पुलिस के लिए अभी यह पहेली बना हुआ है। हालांकि शिकार या स्पोर्ट्स एक्टिविटी के शौकीनों को आसानी से हथियार मिल जाते हैं। बता दें कि पर्म यूनिवर्सिटी मॉस्को से करीब 1,300 किलोमीटर दूर है। रूस की जांच एजेंसियों ने इसे एक गंभीर अपराध माना है।

यह भी पढ़ें-Taliban ने फिर शुरू किया इतिहास मिटाने का खेल, 200 साल पुराना ग्रीश्क का किला ढहा दिया; पता है क्यों?

19 अन्य को गोलियां लगीं
रूसी समाचार एजेंसियों ने स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के बयान के आधार पर बताया कि हमले में 24 लोगों का इलाज चल रहा है, जिनमें 19 को गोलियां लगी हैं। बड़े अपराधों(major crimes) की जांच करने वाली जांच समिति (Investigative Committee) ने कहा कि पुलिस की कार्रवाई में शूटर घायल हो गया था। उसे हिरासत में लिया गया है।

आतंकी हमले से इनकार
स्थानीय समाचार वेबसाइट 59.ru ने शूट की सोशल मीडिया की पोस्ट प्रकाशित की है। इसमें उसने लिखा-जो हुआ; वह एक आतंकवादी हमला नहीं था (कम से कम कानूनी दृष्टिकोण से)। मैं एक चरमपंथी संगठन का सदस्य नहीं था, मैं गैर-धार्मिक और गैर-राजनीतिक था। किसी को नहीं पता था कि मैं क्या करने जा रहा हूं, मैंने इन सभी कार्यों को अंजाम दिया। पोस्ट में, कथित शूटर ने कहा कि वह "नफरत से भर गया था और लंबे समय से शूटिंग की योजना बना रहा था। वो हथियार खरीदने के लिए पैसे बचा रहा था। 

यह भी पढ़ें-Shocking Pics: स्पेन में 50 साल बाद फिर 'La Palma' ज्वालामुखी फूटा, अमेरिका-कनाडा तक सुनामी का Alert

राष्ट्रपति को दी जानकारी
themoscowtimes.com के अनुसार राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को घटना के बारे में जानकारी दी गई है। इसके बाद स्वास्थ्य और विज्ञान मंत्रियों (health and science ministers) को पीड़ितों के लिए सहायता के समन्वय के लिए पर्म की यात्रा करने का आदेश दिया गया था। पुतिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव(Dmitry Peskov)  ने संवाददाताओं से कहा कि राष्ट्रपति ने घटना पर गहरा शोक जताते हुए अपने परिवार और प्रियजनों को खोने वालों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। घटना के बाद स्थानीय स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में कक्षाएं सोमवार को रद्द कर दी गईं।

pic.twitter.com/lS65Lm9jyy

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios