Asianet News HindiAsianet News Hindi

अमेजन में भड़की आग पर ट्रम्प ने की ब्राजील के राष्ट्रपति से बातचीत, ब्राजील लेगा सेना की मदद

अमेजन के जंगलों में लगी आग के लिए ब्राजील के राष्ट्रपति बोल्सोनारो की काफी आलोचना हो रही है। कहा जा रहा है कि ब्राजील के प्रेसिंडेट पर्यावरण सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं हैं। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को इस बारे में ब्राजील के राष्ट्रपति से बात की। 

Trump talks with President of Brazil on fire in Amazon, Brazil will help military
Author
Brasília - Brasilia, First Published Aug 24, 2019, 4:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ब्रासीलिया। अमेजन के जंगलों में लगी आग की समस्या गंभीर होती जा रही है। जहां ब्राजील के राष्ट्रपति बोल्सोनारो  इस आग के लिए एक एनजीओ को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, वहीं उन पर यह आरोप लग रहा है कि वे पर्यावरण सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं हैं। इसी बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को बोल्सनारो से बातचीत कर इस संकट से उबरने में मदद करने की पेशकश की है। उल्लेखनीय है कि अमेजन के जंगलों को दुनिया का फेफड़ा कहा जाता है। दुनिया भर में 20 प्रतिशत ऑक्सीजन यहीं से मिलता है। अमेजन के जंगलों में 39000 पेड़ हैं और 16000 से ज्यादा विभिन्न जीवों की प्रजाति यहां रहती है। सबसे चिंता की बात यह है कि पिछले साल की तुलना में इस साल आग के क्षेत्र में 82 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और अब तक 74000 बार इन जंगलों में आग लग चुकी है।  

क्या कहा ट्रम्प ने
ब्राजील के राष्ट्रपति से बातचीत कर ट्रम्प ने आग बुझाने में मदद करने का भरोसा दिया। ट्रम्प ने कहा कि उन्होंने ब्राजील के राष्ट्रपति से बातचीत कर अमेजन की आग से निपटने में हर संभव सहयोग करने का प्रस्ताव रखा है। दोनों देशों के बीच गहरे संबंध है और भविष्य में व्यापार की बड़ी संभावनाएं हैं। वहीं, अमेरिकी स्टेट डिपार्टमेंट के एक प्रवक्ता ने कहा कि अभी तक ब्राजील ने अमेरिका से किसी तरह का सहयोग नहीं मांगा है। अगर ब्राजील की ओर से ऐसी मांग की जाती है तो हम पूरी तरह तैयार हैं। 

ब्राजील के राष्ट्रपति ने सेना की मदद लेने के दिए आदेश
अमेजन के जंगलों में आग का मामला अंतरराष्ट्रीय जगत में चर्चा का मुख्य मुद्दा बन गया है। अब राष्ट्रपति जायर बोल्सनारो पर इसे लेकर चौतरफा दबाव है। बोल्सनारो ने आग पर काबू पाने के लिए सेना की मदद लेने के आदेश जारी किए हैं। उन्होंने प्रशासन को सीमाई, आदिवासी और संरक्षित इलाकों में सेना तैनात करने को कहा है। कहा जा रहा है कि राष्ट्रपति बोल्सनारो ने अंतरराष्ट्रीय नेताओं के दबाव में यह फैसला लिया है।

क्या कहा फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों ने
फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन के मामले पर ब्राजील के राष्ट्रपति ने झूठ बोला था। उन्होंने कहा है कि वह ब्राजील के साथ व्यापारिक सौदे को तब तक मंजूरी नहीं देंगे, जब तक ब्राजील इस आग पर काबू पाने के लिए प्रभावी कदम नहीं उठाता। आयरलैंड ने भी यही बात कही है।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने भी जतायी चिंता
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अमेजन की आग पर चिंता जताते हुए इसे अंतरराष्ट्रीय समस्या बताया है और कहा है कि हम ऐसी हर संभव मदद करने को तैयार हैं, जिससे यह आग रोकी जा सकती है। 

पर्यावरण समूहों ने किया विरोध प्रदर्शन
अमेजन की आग के मुद्दे पर कई पर्यावरण समूहों ने शुक्रवार को ब्राजील के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने आग को नियंत्रित करने की मांग को लेकर लंदन, बर्लिन, पेरिस और मुंबई में ब्राजील दूतावास के बाहर प्रदर्शन किया।   


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios