Asianet News Hindi

असम में शाह- 'भाई-बहन पर्यटन के लिए आते हैं, अभी बागान में पत्ती नहीं और प्रियंका जी फोटो सेशन करा रही हैं'

असम की 126 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों-27 मार्च, 1 और 6 अप्रैल को चुनाव होगा। मतगणना 2 मई को होगी। पहले चरण में 47 सीटों पर 267 उम्मीदवार खड़े हुए हैं। यहां चुनाव प्रचार थम चुका है। अब बाकी बची सीटों पर जोरआजमाइश शुरू हो गई है। अमित शाह शुक्रवार को असम में रैलियां करने पहुंचे। यहां उन्होंने कांग्रेस, राहुल और प्रियंका गांधी की राजनीति पर सवाल उठाए।

Assam Assembly elections, Amit Shah rallies on 26 March in Assam kpa
Author
Guwahati, First Published Mar 26, 2021, 9:47 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गुवाहाटी, असम. पांच राज्यों-तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी, पश्चिम बंगाल और असम में होने जा रहे विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति पार्टियों में घमासान मचा हुआ है। असम की 126 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों-27 मार्च, 1 और 6 अप्रैल को चुनाव होगा। मतगणना 2 मई को होगी। पहले चरण में 47 सीटों पर 267 उम्मीदवार खड़े हुए हैं। यहां चुनाव प्रचार थम चुका है। अब बाकी बची सीटों पर जोरआजमाइश शुरू हो गई है। अमित शाह शुक्रवार को असम में चार रैलियां संबोधित करने पहुंचे। अमित शाह की पहली रैली कामरूप के कमालपुर में, दूसरी मोरीगांव के दहाली मकारिया पठार, तीसरी करीमगंज और चौथी कचार में थी।

अमित शाह ने कहा

  • राहुल बाबा असम में पर्यटक बनकर आते हैं और कहते हैं कि बदरुद्दीन अजमल तो असम की पहचान हैं। अरे राहुल बाबा, आप असम को नहीं पहचानते हो। महान असम की पहचान श्रीमंत शंकर देव और माधव देव, वीर सेनापति लाचित बोरफूकन है। कांग्रेस कितनी भी जोर लगा ले हम बदरुद्दीन अजमल को असम की पहचान नहीं बनने देंगे। असम में घुसपैठियों को रोकने का काम बदरुद्दीन अजमल सरकार नहीं कर सकती है। असम में घुसपैठियों को रोकने का काम केवल और केवल भाजपा की सरकार कर सकती है। मैं आज असम में कह कर जाता हूं कि कांग्रेस पार्टी कितना भी जोर लगा दे, बदरुद्दीन अजमल को असम की पहचान नहीं बनने देंगे।
  • कांग्रेस पार्टी के 2 नेता ये भाई-बहन असम में पर्यटन के लिए आते हैं। राहुल बाबा को देखा है या नहीं? अभी चाय बागान में पत्ती नहीं बैठी हैं और प्रियंका जी पत्ती तोड़ने के लिए फोटो सेशन करा रही हैं।
  • कांग्रेस की नीयत साफ नहीं है, देशभर में ये सीएए का विरोध कर रही है। कांग्रेस को वोट देने का मतलब है, बदरुद्दीन अजमल को मुख्यमंत्री बनाने का रास्ता साफ कर देना। क्या आप बदरुद्दीन को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं? असम में अगर कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमल की सरकार बनी तो फिर से घुसपैठिए, घुसपैठ शुरू कर देगे और असम के युवाओं का रोजगार छीनकर ले जाएंगे।
    असम में अभी-अभी राहुल बाबा प्रचार करने आए हैं, लेकिन ये चुनाव के बाद में दिखाई नहीं पड़ते हैं। राहुल बाबा छुट्टी मनाने इटली चले जाते हैं, विदेश चले जाते हैं और वहां से आकर बोलते हैं कि असम का प्रतीक बदरुद्दीन अजमल है। लोकसभा चुनाव में बदरुद्दीन अजलम से कांग्रेस ने गठबंधन तो नहीं किया था, लेकिन बदरुद्दीन ने अपना यहां कोई उम्मीदवार नहीं दिया, क्योंकि ये एक दूसरे से मिले हुए थे। अब तो राहुल गांधी बदरुद्दीन के कंधे पर बैठकर ही आए हैं, कुछ छिपा नहीं है।
  • अगर असम में गलती से भी कांग्रेस और बदरुद्दीन की सरकार आई, तो असम में फिर से घुसपैठियों की बाढ़ आएगी। क्या आप असम में घुसपैठियों को चाहते हैं? असम घुसपैठिया मुक्त असम चाहता है की नहीं? कांग्रेस पार्टी घुसपैठिया मुक्त असम नहीं दे सकती। 
  • बोडो लैंड का समझौता समस्त असम के लिए शांति का पैगाम है। वर्षों से जो असम आतंकवाद के चलते युवाओं की जान गवाता था वो असम आज मोदी जी के नेतृत्व में आतंकवाद से मुक्त होकर विकास के रास्ते पर चल पड़ा है।
  • काजीरंगा के जंगलों में घुसपैठियों ने कब्जा कर रखा था। लैंड जेहाद के माध्यम से असम की पहचान को बदलने का काम बदरुद्दीन अजमल ने किया था। कांग्रेस आज उसी बदरुद्दीन अजमल के साथ है। पूरे विश्व में गैंडा असम की पहचान बना हुआ है। पूरे काजीरंगा के जंगलों को घुसपैठियों से मुक्त कराने का काम भाजपा सरकार ने किया है।
  • भाजपा ने असम को आंदोलन मुक्त और आतंकवाद मुक्त बनाया है। पिछले 5 साल में असम में कोई बड़ा आंदोलन हुआ है क्या? आतंकवाद समाप्त हुआ है। 2000 से ज्यादा आतंकवादियों ने मुख्यधारा में आना पसंद किया है। असम विकास के रास्ते पर आगे बढ़ चुका है
  • अब असम को रोजगार युक्त, बाढ़ मुक्त बनाएंगे। असम में हर 5 वर्ष में करीब 7 प्रतिशत भूमि नदियां बहाकर ले जाती हैं। इसके संरक्षण के लिए ब्रह्मपुत्र के आसपास बड़े-बड़े तालाब बनाएंगे।
    असम को एक विकसित राज्य बनाने का काम भाजपा सरकार करेगी। भाजपा के संकल्प पत्र में ढेर सारी बाते हैं मगर सबसे बड़ी बात 'लव जिहाद' और 'लैंड जिहाद' के खिलाफ कानून लाने का काम भाजपा सरकार करेगी।
    पीएम किसान सम्मान निधि के तहत नरेन्द्र मोदी जी जो 6,000 रुपये भेजते हैं, उसमें असम सरकार 2,000 रुपये और जोड़कर कुल 8,000 रुपये सालाना किसानों को देगी। चाय बागान श्रमिकों की मजदूरी को 350 रुपये तक बढ़ायी जाएगी।
  • कांग्रेस का घोषणा पत्र चुनाव प्रचार के लिए होता है और भाजपा का घोषणा पत्र अमल करने के लिए होता है। हमने तय किया है 8वीं कक्षा के बाद सभी बेटियों को साइकिल दी जाएगी। कॉलेज जाने वाली सभी बेटियों को स्कूटी दी जाएगी। कॉलेज जाने वाली हर छात्रा को स्कूटी देंगे। 2 लाख सरकारी नौकरियां और 8 लाख प्राइवेट नौकरियों का सर्जन 2022 से पहले किया जाएगा।
  • भाजपा ने हमेशा से असम के गौरव को बढ़ाने का काम किया। अटल जी की सरकार थी, तब लोकप्रिय गोपीनाथ जी का सम्मान किया। नरेन्द्र मोदी जी की सरकार आई हमने भूपेन हाजरिका का सम्मान किया।
  • गुवाहाटी में एक नए मेडिकल कॉलेज के लिए 860 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं। टाटा समूह एक नया कैंसर अस्पताल भी बना रहा है। विभिन्न क्षेत्रों में छह नए मेडिकल कॉलेज भी बनाए जा रहे हैं, जो इस क्षेत्र में शिक्षा में मदद करेंगे।
  • कांग्रेस पार्टी पूरे देश में बिखरी हुई पार्टी है। इनके पास भाई-बहन के पर्यटन के अलावा कोई एजेंडा नहीं बचा है। कांग्रेस असम का विकास नहीं कर सकते हैं। असम का विकास मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा ही कर सकती है।
  • देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने तय किया है कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी का जन्मदिन पराक्रम दिवस के रूप में मनाया जाएगा।
  • भाजपा की सरकार ने धान के किसान के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य तय किया है और किसानों को समृद्ध बनाने के लिए ढेर सारी योजनाएं लाएं हैं।
  • पीएम किसान सम्मान निधि के तहत करीमगंज जिले में 68,770 किसानों को 57 करोड़ रुपये उनके बैंक खातों में पहुंचाया है।
  • मोदी जी ने 1,000 करोड़ रुपये चाय बागान के श्रमिकों के लिए निवास, अस्पताल और स्कूल के लिए अलग से देने का निर्णय किया है। करीमगंज जिले में 4,331 गरीबों के घर में नल से शुद्ध जल पहुंचाने का काम किया है। 312 करोड़ रुपये की लागत से 122 सड़कें और 32 छोटे पुल बनाने का काम भाजपा की सरकार ने किया है।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अकेले करीमगंज जिले में 18,000 गरीबों को घर दिए गए हैं। राहुल बाबा आएं तो उन्हें ये जरूर पूछना कि आप लोग 4-4 पीढ़ी से राज कर रहे हो, कितने घर गरीबों के लिए बनाए।
  • असम पूरे नॉर्थ ईस्ट को देश के साथ जोड़ने वाला राज्य है। असम में सुरक्षा, शांति, आंदोलन की समाप्ति देश में शांति और सुरक्षा का राजमार्ग है।  हमने बोडो लैंड का समझौता कर असम में चीरकालीन के लिए शांति स्थापित करने का काम किया है।
  • मोदी जी ने कहा था है कि हम अनुच्छेद 370 और 35ए हटाएंगे, हमने इसे हटा दिया।
  • हमने संकल्प पत्र में कहा था कि हम राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर बनाएंगे, आज भव्य राम मंदिर बन रहा है।
  • हमने कहा था कि तीन तलाक खत्म करेंगे, आज मुस्लिम महिलाओं को इससे मुक्ति दी गई है। 
  • प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत असम में 10,700 किमी से अधिक ग्रामीण सड़कें, 20,000 किमी से अधिक नेशनल हाईवे बनाएं हैं, और मूल सुविधाओं का विस्तार यहां भाजपा की सरकार ने किया है।
  • सिलचर में मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक पार्क को जल्द से जल्द पूरा कर, पूर्वी क्षेत्रों में यहां से उत्पाद जाएं, ऐसी हम व्यवस्था करेंगे।

 

 

 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios