Asianet News Hindi

असम में बोले मोदी-कांग्रेस का मतलब है, विनाश की गारंटी, इसका ट्रैक रिकॉर्ड है-अस्थिरता व गरीबों से विश्वासघात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को असम में चुनाव प्रचार करने पहुंचे। असम के बिहपुरिया और सिपाझार में चुनावी सभा में मोदी ने कांग्रेस पर जमकर प्रहार किया। असम की 126 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों-27 मार्च, 1 और 6 अप्रैल को चुनाव होगा। मतगणना 2 मई को होगी। 

Assam assembly elections, Modi visit kpa
Author
Guwahati, First Published Mar 24, 2021, 4:13 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गुवाहाटी, असम. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को असम में चुनाव प्रचार करने पहुंचे। असम के बिहपुरिया में चुनावी सभा में मोदी ने कांग्रेस पर जमकर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने यहां अपने शासन में सिर्फ कुर्सी बचाने का काम किया। आम लोगों के लिए कुछ नहीं किया। असम की 126 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों-27 मार्च, 1 और 6 अप्रैल को चुनाव होगा। मतगणना 2 मई को होगी। 

असम के सिपाझार में बोले मोदी

  • आज असम राइफल्स का 186वां स्थापना दिवस है, असम राइफल्स का देश की रक्षा में गौरवमयी इतिहास रहा है। मैं असम की धरती से असम की शौर्य परंपरा का अभिनंदन करता हूं।
    कांग्रेस का मतलब है, विनाश की गारंटी। कांग्रेस का ट्रैक रिकॉर्ड है- अस्थिरता, गरीबों से विश्वासघात, चाय बागान में काम करने वाले श्रमिकों को धोखा देना, हिंसा और अलगाववाद, घुसपैठियों को बढ़ावा देना। कांग्रेस के लिए घुसपैठिए ही सब कुछ हैं।
    कांग्रेस के दशकों साल के शासन के बाद भी असम में सिर्फ 3 बड़े पुल बन पाए थे। लेकिन एनडीए सरकार के 6 सालों के भीतर ही असम में ढोला सदिया, बोगीबील, सरायघाट समेत कई पुल आज काम करना शुरू कर चुके हैं। इनके अलावा यहां अनेक पुलों पर तेज़ी से काम चल रहा है।
    आज असम के हर हिस्से में एकसमान विकास हो रहा है, जबकि हर बात में भेदभाव करना उनकी(कांग्रेस) आदत और संस्कार है। हमने शांति के सेतु बांधे हैं, 5 साल में हिंसा पर लगाम लगी है जबकि कांग्रेस के शासन में​ हिंसा आम बात थी।
  • कांग्रेस के पास आज ना नेता है, ना ही सही नीयत है। कांग्रेस अब एक ही नीति पर चल रही है- झूठ बोलो, भ्रम फैलाओ और किसी भी कीमत पर सत्ता हासिल करो। इसलिए आपको कांग्रेस से सावधान रहना है।

असम के बिहपुरिया में बोले मोदी

  • हम इसके लिए काम कर रहे हैं कि जब देश आज़ादी के 75 साल मनाएगा तब हिन्दुस्तान का कोई गरीब पक्की छत के बिना नहीं होगा।
  • कांग्रेस के विश्वासघात के सबसे बड़े पीड़ित ​असम के चाय बागान में काम करने वाले मज़दूर भाई-बहन हैं। दशकों तक कांग्रेस ने बागान में काम करने वाले साथियों के लिए कुछ नहीं किया। 15 साल के शासन में ये लोग चाय बागान के श्रमिकों की मज़दूरी को 100 रुपये के ऊपर भी नहीं ले जा पाए थे।
  • कांग्रेस का हाथ आज ऐसे लोगों के साथ है, जिसका आधार असम की पहचान को तबाह करना है। जो दल घुसपैठ पर फला-फूला हो, आज उसके वोटबैंक पर कांग्रेस असम की सत्ता हथियाना चाहती है। जो दल असम के मूलनिवासियों के साथ भेदभाव का प्रतीक रहा कांग्रेस उसके हाथ में असम को सौंपने की बात कर रही है।
  • कांग्रेस के लंबे कालखंड में जिन सत्रों और नामघरों को अवैध कब्जाधारियों के हवाले किया गया था, उनको आज मुक्त किया गया है। ये हम सभी के लिए कितने कष्ट का कारण था कि बताद्रवा थान को भी इन्होंने नहीं छोड़ा था। इन पवित्र स्थानों की सुरक्षा के लिए कांग्रेस ने कुछ नहीं किया।
  • असम में भाजपा सरकार ने जमीन से जुड़े कानून में बदलाव किया और जमीनों को अवैध कब्जे से मुक्त कराया।
  • भाजपा ने असम की कला और संस्कृति को संजोने का काम किया है। काजीरंगा को आज कांग्रेस के कब्जाधारियों से मुक्त कर दिया गया है। असम को अवैध कब्जे, अराजकता से मुक्ति मिल गई है। 
    कांग्रेस का हाथ ऐसे लोगों के साथ है, जो असम को तबाह करना चाहते हैं। मैं आपको जगाने आया हूं। कांग्रेस वोट के लिए कुछ भी कर सकती है। किसी का भी साथ ले सकती है। कांग्रेस का महाझूठ घुसपैठ की गारंटी देता है। कांग्रेस ने असम की चाय को दुनिया में बर्बाद करने का काम किया है।

 

 

 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios