कोवेंट्री(ब्रिटेन): टाटा मोटर्स की कंपनी जगुआर लैंड रोवर्स ने भविष्य के अनुकूल ड्राईवरलेस इलेक्ट्रिक कार को शोकेस किया है। इसे ब्रिटेन के वारविक यूनिवर्सिटी में स्थित कंपनी के रिसर्च सेंटर में बनाया गया है। कंपनी ने इसे ‘प्रोजेक्ट वेक्टर’ के तहत तैयार किया है। कंपनी के अनुसार, प्रोजेक्ट वेक्टर हाईटेक ऑटोमैटिक इलेक्ट्रिक कार विकसित करने का प्रोजेक्ट है।

जगुआर लैंड रोवर के सीईओ राल्फ स्पेथ ने कहा, ‘‘प्रोजेक्ट वेक्टर से यह पता चलता है कि जगुआर लैंड रोवर हमारे समाज को अधिक सुरक्षित, अधिक स्वस्थ और पर्यावरण को अधिक स्वच्छ बनाने के लिये रिसर्च में सबसे आगे है।’’उन्होंने कहा, ‘‘हम इस प्रोजेक्ट के जरिए टेक्नोलॉजी  जगत, आपूर्ति श्रृंखला और डिजिटल सेवा क्षेत्र की उत्कृष्ट प्रतिभाओं को एक साथ ला रहे हैं, ताकि आवागमन की कनेक्टेड व एकीकृत प्रणालियां विकसित की जा सकें। ये प्रणालियां ही ‘डेस्टिनेशन जीरो’ की आधारशिलाएं हैं।’’

कंपनी ऑटो सेक्टर में  एक ऐसे भविष्य को ‘डेस्टिनेशन जीरो’ नाम देती है, जहां दुर्घटनाएं शून्य हों, उत्सर्जन शून्य हो और सड़क पर यातायात का दबाव शून्य हो।

कंपनी ने कहा कि इस कार की लंबाई महज चार मीटर है तथा इसे शहरों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। इसमें एक समतल पर सारी बैटरियां और ड्राइवट्रेन उपकरण लगाये गये हैं, जो इसे बहुद्देश्यीय बनाता है। अंदर का केबिन भी इस तरह से तैयार किया गया है कि उसे व्यक्तिगत या वाणिज्यिक इस्तेमाल के हिसाब से बदला जा सकता है।