ऑटो डेस्क: दो पहिया वाहन चालकों की सुरक्षा के लिए हेलमेट बनाए गए हैं। एक सर्वे के मुताबिक, सड़क दुर्घटना होने पर सिर में चोट लगने से ही ज्यादातर मौतें होती हैं। ऐसे में अगर चालक हेलमेट पहनता है तो उसके बचने की संभावना बढ़ जाती है। लेकिन इसके बावजूद लोग हेलमेट नहीं पहनते।  इसके बाद सड़क दुर्घटना में अपनी जान गंवा देते हैं। इसे देखते हुए ओडिशा सरकार ने राज्य पुलिस और परिवहन आयुक्त से बिना हेलमेट पहने लोगों का ड्राइविंग लाइसेंस सस्पेंड कर दिया जाएगा। साथ ही इसका सख्ती से लागू करने का आग्रह किया गया है। 


सचिव ने मांगी हर जिले की रिपोर्ट 
परिवहन विभाग के सचिव एम एस पाढ़ी ने डीजीपी को और परिवहन आयुक्त को लेटर लिखकर कहा कि जो लोग बाइक या स्कूटी पर बिना हेलमेट के दिखें, उनके साथ सख्ती बरतने की जरुरत  है। इससे सड़क दुर्घटना के मामलों में कमी आ जाएगी। साथ ही जनवरी से अक्टूबर 2020 तक  हेलमेट ना पहनने पर सस्पेंड हुए लाइसेंस की जानकारी देने को कहा है। 

दिल्ली में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना मुश्किल 
बीते कुछ समय से मोटर व्हीकल एक्ट सख्त होते जा रहा है। इस सख्ती की वजह से दिल्ली-एनसीआर में अभी ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए लोगों को काफी इन्तजार करना पड़ रहा है। यहां अभी लाइसेंस बनाने के लिए तीन से चार महीने का वेटिंग पीरियड है। साथ ही ऑनलाइन भी इसके लिए अप्लाई करने पर तीन से चार महीने का वेटिंग पीरियड दिखा रहा है।  साथ ही आरटीओ में भी दिसंबर से पहले तक का डेट नहीं है।  

2019 में सड़क दुर्घटना में हुई इतनी मौतें 
2019 में ओडिशा में कुल 11 हजार 64 सड़क दुर्घटना के मामले सामने आए। इसमें 4 हजार 688 सड़क दुर्घटना दो पहिया वाहन के थे। सड़क दुर्घटना के मामले तेजी से बढ़ता देख राज्य सरकार ने अब ड्राइविंग लाइसेंस सस्पेंड करने का फैसला किया है। सरकार को भरोसा है कि इस तरह से लोग स्कूटर पर हेलमेट पहनना शुरू कर देंगे।