Asianet News Hindi

बिहार चुनावःये हैं पहले चरण के टॉप टेन बाहुबली प्रत्याशी,जिनपर है गंभीर आरोप,जानिए-किसपर है कितने क्रिमिनल केस

आंकड़ों के मुताबिक इस बार के विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा दागियों को टिकट आरजेडी ने दिया है, जिसके 41 प्रत्याशियों में से 30 (73 प्रतिशत) दागी है। इसी तरह बीजेपी के 29 में से 21 (72 प्रतिशत), लोजपा के 41 में से 24 (59 प्रतिशत) कांग्रेस के 21 में से 12 (57 प्रतिशत), जदयू के 35 में से 15 (43 प्रतिशत) और बसपा के 26 में से 8 (31 प्रतिशत) उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। वहीं, बात अगर ज्यादा गंभीर मामले के आरोपी प्रत्याशियों की बात करें तो आरजेडी के 22, लोजपा के 20, भाजपा के 13, कांग्रेस के 9, जदयू के 10 और बसपा के 5 प्रत्याशी हैं, जिनपर अति गंभीर मामले दर्ज हैं।

Bihar elections: These top ten Bahubali candidates of the first phase, know, what is the criminal case on asa
Author
Bihar, First Published Oct 26, 2020, 4:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar ) । बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 71 सीटों पर 28 अक्टूबर को वोटिंग होगी। 1065 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। जिनके बारे में वोटर्स जानना चाहते हैं। वहीं, एसोसिशन फॉर डेमोक्रेटिव रिफॉर्म (ADR) और बिहार इलेक्शन वॉच (Bihar Election Watch) ने शपथ पत्र में दिए गए क्रिमिनल बैकग्राउंड के आधार पर ऐसे तमाम प्रत्याशियों की लिस्ट जारी की है, जिसके आधार पर हम आपको टॉप टेन ऐसे प्रत्याशियों के बारे में बता रहे हैं, जिनपर सबसे ज्यादा और गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह का नाम सबसे ऊपर है।

अनंत सिंह पर सबसे ज्यादा केस
अनंत कुमार सिंह आरजेडी से मोकामा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, जिनपर कुल 38 मामले दर्ज हैं। इनमें हत्या के 7, हत्या का प्रयास के 11, अपहरण के 4 जैसे मामले भी शामिल हैं।

(फोटो में अनंत सिंह)

अनंत से एक कदम पीछे हैं सुधीर
गया जिले के गुरूआ विधानसभा सीट से सुधीर कुमार वर्मा जन अधिकार पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। उनपर 37 मामले दर्ज हैं। इनमें हत्या, हत्या का प्रयास और अपहरण के तीन-तीन मामले मुख्य रूप से शामिल हैं।

(फोटो में सुधीर कुमार वर्मा)

मनोज मंजिल पर है 30 केस
मनोज मंजिल CPI (ML) (L) के टिकट पर भोजपुर जिले के अगिआंव विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, जिपर 30 आपराधिक केस दर्ज हैं। इनमें मुख्य रूप से हत्या के 2, हत्या का प्रयास के 4, अपहरण का 1 मामला शामिल है।

(फोटो में मनोज मंजिल)

अनिल पर है इस तरह के 15 केस
अनिल कुमार जनतांत्रिक विकास पार्टी से भोजपुर के तरारी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, जिनपर हत्या के प्रयास का दो और महिला संग अभद्रता के मामले सहित कुल 23 मामले दर्ज हैं।

(फोटो में अनिल कुमार)

कर्णवीर ने निर्दलीय ठोका है ताल
पटना के बाढ़ विधानसभा सीट से कर्णवीर सिंह यादव निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं, जिनपर 15 क्रिमिनल केस हैं। इनमें हत्या, अपहरण और फिरौती जैसे मामले के भी एक-एक केस शामिल हैं।

(फोटो में कर्णवीर सिंह यादव)

अमित सिंह और प्रदीप जोशी दर्ज हैं 14-14 केस
राष्ट्रवादी जनलोक पार्टी (सत्य) के टिकट पर अमित कुमार सिंह रोहतास जिले के काराकाट विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। जिनपर 14 मामले दर्ज हैं। इनमें मुख्य रूप से हत्या के 3, हत्या का प्रयास के 5 मामले शामिल हैं। प्रदीप कुमार जोशी रोहतास जिले के डेहरी सीट से राष्ट्र सेवा दल के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं, जिपर धारा 307 के तहत हत्या के प्रयास के 3 मामले, महिला से अभद्रता के 1 मामले सहित कुल 14 केस दर्ज हैं। 

ये तीन प्रत्याशी भी टॉप टेन में हैं शामिल
हरेंद्र सिंह राष्ट्रीय जन-जन पार्टी से भोजपुर जिले के शाहपुर सीट से चुनाव मैदान में हैं, जिसपर 10 आपराधिक मामले दर्ज हैं। हत्या, हत्या के प्रयास का भी एक-एक मामला शामिल है। आजाद पासवान  निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर बक्सर जिले के राजपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। इनपर 9 आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिनसें हत्या का एक और 307 के तहत हत्या के प्रयास का 2 मामला भी शामिल है। प्रहलाद बिंद भी निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चैनपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, जिनपर 7 मामले दर्ज हैं। इन पर हत्या, हत्या के प्रयास जैसे गंभीर भी लगे हैं। 

जानिए, किस दल ने किया है कितने दागियों को टिकट
आंकड़ों के मुताबिक इस बार के विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा दागियों को टिकट आरजेडी ने दिया है, जिसके 41 प्रत्याशियों में से 30 (73 प्रतिशत) दागी है। इसी तरह बीजेपी के 29 में से 21 (72 प्रतिशत), लोजपा के 41 में से 24 (59 प्रतिशत) कांग्रेस के 21 में से 12 (57 प्रतिशत), जदयू के 35 में से 15 (43 प्रतिशत) और बसपा के 26 में से 8 (31 प्रतिशत) उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। वहीं, बात अगर ज्यादा गंभीर मामले के आरोपी प्रत्याशियों की बात करें तो आरजेडी के 22, लोजपा के 20, भाजपा के 13, कांग्रेस के 9, जदयू के 10 और बसपा के 5 प्रत्याशी हैं, जिनपर अति गंभीर मामले दर्ज हैं।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios