Asianet News Hindi

PM मोदी के सख्त फैसलों को बनाया मुद्दा, हुसैन बोले- 'पहले मजाक उड़ाते थे, अब कांग्रेसी भी कहते हैं जय श्रीराम'

राम मंदिर निर्माण और ट्रिपल तलाक जैसे मुद्दों को लेकर बिहार में पार्टी आक्रामक हो गई है। बीजेपी (BJP) के दिग्गज नेता गलवान में सेना के शौर्य और चीन के खिलाफ मोदी सरकार के सख्त स्टैंड को भी मुद्दा बनाते दिख रहे हैं। 

BJP raised decisions of PM Narendra Modi and national issues in bihar polls 2020
Author
Patna, First Published Sep 19, 2020, 12:28 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। बिहार में 243 विधानसभा (Bihar Polls) सीटों पर चुनाव की तारीखों का ऐलान नजदीक आने के साथ ही बीजेपी का प्रचार आक्रामक होता जा रहा है। बिहार में नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के उन फैसलों को भी मुद्दा बनाया जा रहा है जो पिछले तीन दशक की राजनीति में पार्टी का कोर एजेंडा रहे हैं। कश्मीर में धारा 370 (Article 370) को हटाना, पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) राम मंदिर निर्माण और ट्रिपल तलाक जैसे मुद्दों को लेकर बिहार में पार्टी आक्रामक हो गई है। बीजेपी (BJP) के दिग्गज नेता गलवान में सेना के शौर्य और चीन के खिलाफ मोदी सरकार के सख्त स्टैंड को भी मुद्दा बनाते दिख रहे हैं। 

पिछले कुछ दिनों के अंदर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार को एक पर एक परियोजनाओं की सौगात दी है। कई योजनाओं का उद्घाटन भी किया। इसके बाद पार्टी ने राज्य के लिए ताकतवर नेताओं को जमीन पर उतार दिया। पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा (BJP President JP Nadda), बिहार प्रभारी देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) और चुनाव के लिए अलग-अलग कमेटियों में शामिल पार्टी के दिग्गज नेताओं ने अभियान शुरू कर दिया है। बीजेपी, विकास के स्थानीय मुद्दों, सोशल इंजीनियरिंग के साथ ही साथ राष्ट्रीय मुद्दों (National issues in Bihar polls) को भी प्रमुखता से उठा रही है। पीएम मोदी के जन्मदिन के बहाने पार्टी ने इसकी शुरुआत की। 

70 दिग्गज बिहार में उठा रहे राष्ट्रीय मुद्दा 
मोदी के 70वें जन्मदिन पर पार्टी 70 प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए इन मुद्दों को धार दे रही है। इसके लिए पार्टी धीरे-धीरे अपनी फ्रंटलाइन लीडरशिप को आगे कर रही है। पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra), पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन (Shahnawaz Hussain) और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) समेत 70 दिग्गज विपक्ष के चक्रव्यूह को भेदने के लिए मैदान में उतर चुके हैं। 

(चीन के सामने मुस्तैद है सेना)

गलवान में चीन पर सेना की कार्रवाई मुद्दा 
दरभंगा में शाहनवाज़ हुसैन ने मोदी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए चीन (China) को भी मुद्दा बनाने की कोशिश की। हुसैन ने कहा कि मोदी सरकार के नेतृत्व में लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) में सेना किसी भी सूरत में चीन के सामने नहीं झुकी। हमारे 20 जवान शहीद हुए लेकिन जवानों ने 43 से ज्यादा चीनी सैनिकों की गर्दन मरोड़ दी। देश का स्वाभिमान मोदी के नेतृत्व में पूरी तरह से सुरक्षित है। बताते चलें कि गलवान में "लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल" पर चीनी सैनिकों ने बिहार रेजिमेंट (Bihar Regiment) के निहत्थे जवानों ने मोर्चा लिया था। जवानों की बहादुरी के आगे चीन की चालबाजी काम नहीं आई और उसे भारी नुकसान उठाने पड़े। बिहार के कई जवानों ने देश के लिए बलिदान दे दिया था। चीन के साथ अभी भी विवाद बना हुआ है और हमारी सेना मोर्चे पर पूरी तरह से मुस्तैद है। 

पहले मज़ाक उड़ाते थे अब कहते हैं जयश्री राम 
हुसैन ने कहा- बीजेपी के राममंदिर (Ram Mandir) बनाने के नारे का कांग्रेस (Congress) और विपक्षी दल मज़ाक उड़ाते थे। केंद्र सरकार की वजह से आज स्थिति यह हो गई है कि विपक्ष भी जय हनुमान और जय श्रीराम के नारे लगा रहा है। लंबे समय तक मोदी को देश छोड़ने वाला नहीं है। हुसैन ने यह भी कहा- विपक्ष मानता था कि ट्रिपल तलाक और कश्मीर में धारा 370 खत्म नहीं हो सकता। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिखा दिया कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत एक है। हुसैन ने यह भी दोहराया कि बिहार में एक बार फिर से नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व में एनडीए (NDA) की सरकार बनेगी। 

(रघुवंश प्रसाद सिंह)

एक लोटा पानी में डूबेगी महागठबंधन की नैया 
उधर, सांबित पात्रा ने आरजेडी (RJD) विधायक और लालू यादव (Lalu Yadav) के बेटे तेजप्रताप (TejPratap Yadav) के "लोटे का पानी" वाले बयान पर निशाना साधा। हुसैन से अलग मुजफ्फरपुर की प्रेस कोन्फ्रेंस में सांबित ने कहा- खून-पसीना से आरजेडी को सींचने वाले महान समाजवादी नेता रघुवंश बाबू (Raghuvansh Prasad Singh) को एक लोटा पानी से आरजेडी के युवराज ने तौल दिया था। उसी एक लोटा पानी में आरजेडी की नैया डूबेगी। सांबित ने कहा- बिहार की लड़ाई विकास और भ्रष्टाचार के बीच है। प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री के रूप में नीतीश कुमार बिहार को आगे ले जाने के लिए दिन-रात मेहनत कर रहे हैं। जबकि कांग्रेस और आरजेडी वंशवाद और राजनीतिक संपत्ति के बंटवारे में व्यस्त है। लालू पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा- जनता देख रही है कि बिहार में कौन जेल में है और कौन बेल पर है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios