Asianet News Hindi

100 सीट जीतने की योजना पर शुरू है BJP का काम, मोदी-नीतीश के नेतृत्व में NDA का फोकस 220 पार

बीजेपी प्रेसिडेंट जेपी नड्डा (BJP President JP Nadda) और पार्टी के चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस (BJP Bihar Election Incharge Devendra Fadnavis) राज्य के आला नेताओं के साथ कैम्पेन को धार दे रहे हैं।

BJPs work on plan to win 100 seats NDA's focus crossed 220 under Modi Nitish's leadership
Author
Patna, First Published Sep 12, 2020, 1:50 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar assembly polls 2020) के लिए चुनाव आयोग (Election Commission Off India) की घोषणा से पहले ही बीजेपी राज्य में अपने जमीनी अभियान को शुरू कर चुकी है। इसे पार्टी प्रेसिडेंट जेपी नड्डा (BJP President JP Nadda) और पार्टी के चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस (BJP Bihar Election Incharge Devendra Fadnavis) राज्य के आला नेताओं के साथ कैम्पेन को धार दे रहे हैं। पार्टी ने काम शुरू कर सभी बड़े नेताओं को शुक्रवार से राज्य के अलग-अलग इलाकों में ताकत झोकने का टास्क सौंप दिया है। 

2019 के लोकसभा चुनाव नतीजों से (2019 Indian general election in Bihar) पार्टी का मनोबल अभी तक ऊंचा नजर आ रहा है। नतीजों में एनडीए ने 40 में से 39 सीटों पर आरजेडी के नेतृत्व में बने महागठबंधन (Mahagathbandhan in  leadership of RJD) का सफाया कर दिया था। सिर्फ एक सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार को जीत मिली थी। एनडीए में JDU, BJP और LJP शामिल थीं। सूत्रों के मुताबिक इस बार विधानसभा चुनाव में पार्टी की योजना अकेले दम 100 सीटों को जीतने का है। जबकि एनडीए (NDA) को 220 सीटों पर जिताने का लक्ष्य रखा गया है। 

दूसरे दलों से आगे-आगे पार्टी, अब जमीन पर शुरू होगी मुहिम 
बीजेपी ने चुनाव में लक्ष्य को हासिल करने के लिए कई स्तर पर तैयारियां की हैं। कोरोना काल में डिजिटल कैम्पेन (Digital campaign in the Corona era) सबसे पहले शुरू किया जा चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) चुनाव से पहले बिहार के लिए लगातार बड़ी-बड़ी परियोजनाओं की घोषणा कर रहे हैं। अलग-अलग इलाकों में उम्मीदवारों के प्रचार के लिए एलईडी से सजे हाइटेक प्रचार रथ (BJP campaign in Bihar 2020) बनाए गए हैं। पार्टी के आईटी सेल ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और वाट्सऐप ग्रुप का तगड़ा नेटवर्क तैयार किया है। योजना है कि बूथ स्तर तक डिजिटल माध्यमों के जरिए केंद्र और राज्य सरकार के काम को बताया जाए और पार्टी के साथ ही गठबंधन के नेताओं का संदेश उनतक पहुंचाया जाए। डिजिटल के बाद जमीनी प्रचार के लिहाज से भी बीजेपी दूसरे दलों से बहुत आगे है। 

रवाना होंगे हाइटेक प्रचार रथ 
आज जेपी नड्डा प्रचार रथों को हरी  झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। इसके साथ ही वो "बिहार आत्मनिर्भर कैम्पेन" (BJP Bihar Atmanirbhar Campaign in Bihar) की शुरुआत भी करेंगे। इसके तहत वो मिथिलाञ्चल का दौरा भी कर रहे हैं। उधर, फडणवीस भी आरा, जहानाबाद, गया, पूर्णिया और कटिहार का दौरा करेंगे। गया में पार्टी के दिग्गज मंत्री प्रेम कुमार के साथ विष्णुपद मंदिर में (Gaya Vishnupad Mandir) पूजापाठ भी करने जाएंगे। शुक्रवार को फडणवीस ने साफ कर दिया कि सुशांत मामले में बिहार बनाम महाराष्ट्र की डिबेट है ही नहीं। उन्होंने कहा, सुशांत चुनाव का मुद्दा नहीं हैं (Sushant Singh Rajput death case in Bihar polls)। वो किसी राज्य का भी मुद्दा नहीं हैं। वो बिहार ही नहीं पूरे देश के बेटे हैं और उनके परिवार को न्याय मिलना चाहिए।   

मिशन के लिए बीजेपी ने नेताओं को सौंपे टास्क 
बिहार दौरे में नड्डा चुनाव के लिए बनाई गई अलग-अलग कमेटियों के काम और रणनीतियों को भी चेक कर रहे हैं। शुक्रवार को देर रात तक चुनाव संचालन समिति की पहली बैठक (BJP meeting in Patna office for Bihar Polls 2020) पार्टी ऑफिस में हुई। इस दौरान उन्होंने साफ कहा कि सिर्फ भाजपा ही नहीं बल्कि एनडीए की बड़ी जीत सुनिश्चित करनी है। बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव (Election in charge Bhupendra Yadav) ने भी पार्टी के जनप्रतिनिधियों और वरिष्‍ठ नेताओं को गांव-गांव, गली-गली जाकर लोगों से समर्थन जुटाने का काम सौंपा है। 

चुनाव संचालन समिति के अध्यक्ष और केंद्रीयगृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि 220 सीट जीतने के लक्ष्य के लिए "60 हजार सप्तऋषि" कर्णधार बनेंगे। एनडीए के पास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपलब्धियों की लंबी सूची है। इसे और विस्तार देने की योजना है। आज शाम को भी बीजेपी पार्टी ऑफिस में कई बैठके हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios