पूर्णिया/पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए तीसरे फेज के कैम्पेन के खत्म होने से पहले पूर्णिया की जनसभा में सीएम नीतीश कुमार ने राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा की। लेसी सिंह के समर्थन में धमदाहा में रैली करने आए नीतीश ने कहा- "आप जान लीजिए आज चुनाव का आखिरी दिन है। और परसों चुनाव है। ये मेरा अंतिम चुनाव है। अंत भला तो सब भला। आप बताइए, वोट दीजिएगा ना। हाथ उठाकर बताइए।" नीतीश के संन्यास की घोषणा के बाद उनके विरोधी नेताओं की प्रतिक्रिया आने लगी है। एलजेपी ने कहा कि मैदान छोड़कर भागने वालों पर भरोसा ना करें। 

सीएम नीतीश की घोषणा के बाद एलजेपी ने एक ट्वीट में कहा- "नीतीश कुमार जी के संन्यास लेने के बयान के बाद जेडीयू के नेताओ में हड़कंप है। जेडीयू के कई नेता अब बेरोज़गार हो गए हैं। इन बेरोज़गारों को #बिहार1stबिहारी1st में कोई जगह नहीं दी जाएगी। वह हमेशा बेरोज़गार ही रहेंगे। बिहार को अब और बर्बाद नहीं होने देना है। जो लोग मैदान छोड़कर भाग चुके हैं ऐसे लोगों पर कौन विश्वास करेगा।"

अब हिसाब देने नहीं आएंगे वोट मत देना 
वहीं एलजेपी चीफ चिराग पासवान ने ट्वीट में कहा- "साहब ने कहा है कि यह उनका आखिरी चुनाव है। इस बार पिछले 5 साल का हिसाब दिया नहीं और अभी से बता दिया कि अगली बार हिसाब देने आएंगे नहीं। अपना अधिकार उनको ना दें जो कल आपका आशीर्वाद फिर मांगने नहीं आएंगे। अगले चुनाव में ना साहब रहेंगे ना जेडीयू। फिर हिसाब किससे लेंगे हम लोग?"

बीजेपी के लिए भी मांगा वोट 
चिराग ने यह भी कहा- "जेडीयू प्रत्याशी को दिया गया एक भी वोट कल आप के बच्चे को पलायन पर मजबूर करेगा। बिहार को और बर्बाद नहीं होने देना है। #असम्भवनीतीश #बिहार1stबिहारी1st #लोजपाभाजपा सरकार के लिए सभी लोजपा और भाजपा के प्रत्याशी को अपना आशीर्वाद दें।"

आरजेडी ने बताया सहानुभूति कार्ड
उधर, युवा राजद ने भी संन्यास की घोषणा को नीतीश की स्ट्रेटजी करार दिया है। एक वीडियो फुटेज साझा करते हुए युवा आरजेडी ने ट्विटर पर कहा- "आखिरी दाव! सहानुभूति कार्ड!"

कुशवाहा ने कहा- आशीर्वाद दें और आराम करें 
आरएलएसपी चीफ उपेंद्र कुशवाहा ने भी संन्यास की घोषणा पर चुटकी ली। कुशवाहा ने ट्वीट में लिखा- "श्री नीतीश कुमार जी ने हकीकत का ध्यान रखते हुए सही समय पर सही ऐलान किया है। अब छोटे भाई को आशीर्वाद दें और विदाई लेकर आराम करें।"