Asianet News Hindi

जन्मदिन पर भावुक हुए चिराग पासवान, पहले पिता के वीडियो को साझा किया फिर मंदिर पहुंचे पूजा करने

चिराग ने अपने माता-पिता का एक छोटा वीडियो ट्विटर पर साझा किया है। वीडियो साझा करते हुए चिराग ने लिखा- "मिस यू पापा। मैं आपके बिना अधूरा हूं।" पिछले दिनों दिल्ली में इलाज के दौरान राम विलास पासवान का निधन हो गया था। 

LJP Chief Chirag Paswan emotional on birthday shared ramvilas paswan old video
Author
Patna, First Published Oct 31, 2020, 11:25 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। एलजेपी चीफ चिराग पासवान जन्मदिन के मौके पर पर एक बार फिर पापा रामविलास पासवान को याद कर भावुक हो गए। चिराग ने माता-पिता का एक छोटा वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किया है। वीडियो साझा करते हुए लिखा- "मिस यू पापा। मैं आपके बिना अधूरा हूं।" पिछले दिनों दिल्ली में इलाज के दौरान एलजेपी संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन हो गया था। रामविलास की अंतिम क्रिया पटना में राजकीय सम्मान के साथ हुई थी। 

वीडियो में क्या है?

वीडियो में रामविलास पासवान और उनकी दूसरी पत्नी रीना पासवान बेटे को जन्मदिन पर वीडियो मैसेज देते नजर आ रहे हैं। रामविलास कह रहे हैं, "मैंने जब चिराग का नाम रखा था चिराग और घर का नाम रखा था दीपक। मैंने बहुत सोच समझकर ये नाम रखा था। मुझे खुशी है कि मेरा चिराग न सिर्फ मेरा बल्कि पूरी देश-दुनिया का चिराग बन गया है। हर पिता की हार्दिक कामना होती है कि उसका बेटा आगे बढ़े। मेरा चिराग आगे बढ़ रहा है हमें इस बात की खुशी है। चिराग सबसे उच्चतम जगह पर पहुंचे और देश दुनिया में अपना और देश का नाम रोशन करे।"

जन्मदिन पर मंदिर में पूजा  
चिराग ने जन्मदिन के मौके पर पटना के पटन देवी मंदिर में पूजा अर्चना भी की। बताते चलें कि चिराग रामविलास पासवान के इकलौते बेटे हैं। इनका जन्म 31 अक्तूबर 1982 में हुआ था। रामविलास पासवान ने जीवित रहते ही पार्टी की कमान चिराग को सौंप दी थी। राजनीति से आने से पहले चिराग ने फिल्मों में भी हाथ आजमाया था। 2011 में कंगना रनौट के साथ उनकी एक फिल्म "मिले न मिले हम" भी रिलीज हुई थी। हालांकि फिल्म नहीं चली और 2014 में वो राजनीति में आ गए। 

बिहार एनडीए से अलग हो गए हैं चिराग 
चिराग ने 2014 में जमुई से पहली बार लोकसभा का चुनाव जीता। 2019 में भी दोबारा जमुई से सांसद बने। चिराग के नेतृत्व में एलजेपी, एनडीए का हिस्सा है। हालांकि विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की वजह से एलजेपी बिहार एनडीए से अलग हो गई और अकेले चुनाव लड़ रही है। एलजेपी, जेडीयू कोटे की सभी सीटों पर लड़ रही है। कुछ सीटों पर दोस्ताना फाइट बताते हुए बीजेपी के खिलाफ भी उम्मीदवार दिए हैं। चिराग ने दावा किया है कि चुनाव बाद बिहार में बीजेपी संग एलजेपी की सरकार बनेगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios