Asianet News Hindi

चंपारण में CM नीतीश का दावा- 15 साल में 95 हजार नौकरियां देने वाले 10 लाख का वादा कर रहे, हमने दिए 6 लाख

मुख्यमंत्री ने लोगों को बहकावे में आने से बचने की सलाह दी और ये बताने की कोशिश की कि दुनिया के किसी भी देश में सबको सरकारी नौकरियां देना असंभव है।

Nitish kumar said who gave just 95 thousand jobs in 15 years promising 10 lakh job we gave 6 lakh jobs til date
Author
Bihar, First Published Oct 29, 2020, 3:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

चंपारण/पटना। एनडीए के सीएम फेस और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज महागठबंधन के सीएम फेस तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरियों पर करारा प्रहार किया। नीतीश ने आरोप लगाया कि जिनके 15 साल के राज में सिर्फ 95 हजार नौकरियां दी गईं वो 10 लाख लोगों को रोजगार देने का भ्रम फैला रहे हैं। मुख्यमंत्री ने लोगों को बहकावे में आने से बचने की सलाह दी और ये बताने की कोशिश की कि दुनिया के किसी भी देश में सबको सरकारी नौकरियां देना असंभव है। बताते चलें कि तेजस्वी ने सरकार बनते ही कैबिनेट के पहले काम में 10 लाख लोगों को स्थायी सरारी नौकरी देने का वादा किया है।  
 
चंपारण के सिकटा विधानसभा में नीतीश ने कहा- "वो (तेजस्वी यादव) 10 लाख युवाओं को सरकारी रोजगार देने का वादा कर रहे हैं। मैं तो कह रहा है पिछले तीन साल में कई युवा 12वीं पास हुए हैं। 10 लाख को ही क्यों सबक़ो सरकारी नौकरी दे दो। एक करोड़ को दे दो। लेकिन एक करोड़ का तनख्वाह कहां से लाओगे ये तो बताओ। इतना करने के लिए कई लाख करोड़ की जरूरत होगी।" 

लोगों को बहकाने के लिए फैला रहे हैं भ्रम 
नीतीश ने आरोप लगाया- "लोगों को सिर्फ बहकाने और भड़काने के लिए ऐसी बातें कही जाती हैं। पहले क्या खर्चा था राज्य का? कुछ भी नहीं था। इन्हें 15 साल बिहार में काम करने का मौका भी मिला। लेकिन बिहार में 15 साल में सिर्फ 95 हजार लोगों को जॉब मिला। हम लोगों ने 15 साल में 6 लाख सरकारी नौकरियां दी। इसके अलावा अलावा संविदा और दूसरे तरह से लाखों लोगों को रोजगार दिया। अच्छे माहौल की वजह से कृषि, व्यापार में भी ना जाने कितने लोगों को रोजगार का अवसर मिला। इनके चक्कर में मत पड़िएगा। ये जो कह रहे वो होने वाला नहीं है।"   

शाम ढलते ही घरों में बंद हो जाते थे लोग 
नीतीश ने कहा- "हम लोगों के सत्ता में आने से पहले शाम के बाद कोई हिम्मत नहीं करता था घर से निकलने का। पूरा का पूरा चंपारण का जिला, कौन नहीं जानता क्या स्थिति थी। कितने लोगों का सामूहिक नरसंहार किया गया, कितने लोगों का अपहरण किया गया। लोग भयभीत रहते थे। सब चीजों से छुटकारा दिला के बिहार को विकास के रास्ते पर ले जाने का काम हम लोगों ने किया। पहले पांच साल में काम किया, दूसरे पांच साल में उससे ज्यादा काम किया। और अभी उससे भी ज्यादे काम किए हैं।"

बुजुर्ग बच्चों को बताएं पुराना अनुभव 
नीतीश ने कहा- "अब अपराध पर कितना नियंत्रण है। मैं पहले दिन से कहता आ रहा हूं कि अपराध, भ्रष्टाचार सांप्रदायिक दंगों को बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेंगे। समाज को आगे लेकर जाने के लिए काम करेंगे। नई पीढ़ी के लोगों ने इन सब चीजों को नहीं देखा है। आप लोगों का दायित्व है कि उन्हें इसके बारे में बताएं। अपना पुराना अनुभव अपने बच्चे-बच्चियों को बताए कि पहले क्या स्थिति थी अब क्या स्थिति है।"

एनडीए के लिए मांगे वोट 
नीतीश ने विधानसभा चुनाव और वाल्मीकि नगर के लोकसभा उपचुनाव के लिए एनडीए प्रत्याशियों को भारी से भारी मतों से जिताने की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा- आप लोगों ने जबसे काम करने का मौका दिया, हमने सेवा की है। न्याय के साथ विकास हम शुरू से बोल रहे हैं। उसका मतलब है बिहार के हर इलाके का विकास समाज के हर तबके का उत्थान। हमेंहमें मौका मिलेगा तो हम इसे करते रहेंगे।  
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios