Asianet News Hindi

'ससुराल' में लालू के लाल तेजप्रताप यादव ने थामी पतवार, बाढ़ग्रस्त लोगों के बीच पहुंचकर ऐसे की मदद

लालू के बड़े बेटे और विधायक तेजप्रताप यादव का इस तरह का अंदाज कई बार दिख चुका है। वो रिक्शे से लेकर घुड़सवारी तक करते नजर आए हैं। कई बार शिव और कृष्ण का रूप भी धारण करते हैं। 

Tej Pratap Yadav visited flood hit areas of Saran in Bihar
Author
Patna, First Published Sep 4, 2020, 2:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इस बार भ्रष्टाचार के मामले में जेल में बंद लालू यादव के बिना आरजेडी को चुनाव मैदान में उतरना पड़ेगा। उनके दोनों बेटों तेजप्रताप और तेजस्वी के कंधों पर काफी दारोमदार भी है। हालांकि दोनों सक्रिय भी हैं। तेजप्रताप का तो अभी से अलग ही अवतार नजर आने लगा है। कुछ दिन पहले पार्टी कार्यालय में दावेदारों से मुलाक़ात करने के बाद अब सारण जिले में उनका अनोखा अंदाज नजर आया। 

सारण जिले के परसा में ही तेजप्रताप की ऐश्वर्या राय संग शादी हुई थी। हालांकि छह महीने के बाद ही दोनों के रिश्ते तनावपूर्ण हो गए और मामला अदालत तक पहुंच गया। वैसे तेजप्रताप, सारण में बाढ़ग्रस्त इलाकों का मुआयना करने पहुंचे। एक टूटी नाव पर कुर्सी लगाकर बाढ़ की महामारी देखी। उन्होंने नाव की पतवार भी पकड़ी। इस दौरान 'लालू रसोई' के जरिए बाढ़ग्रस्त इलाकों में लोगों को खाना भी खिलाया। कुछ परिवारों को अनाज भी दिया गया। 

घुड़सवारी भी कर चुके हैं तेजप्रताप यादव 
तेजप्रताप का इस तरह का अंदाज कई बार दिख चुका है। वो रिक्शे से लेकर घुड़सवारी तक करते नजर आए हैं। कई बार शिव और कृष्ण का रूप भी धारण करते हैं। उनकी भक्ति भी जगजाहिर है। बताते चलें कि 'लालू रसोई' के जरिए बाढ़ग्रस्त इलाकों में लोगों को भोजन मुहैया करवाने का दावा किया जा रहा है। 

नीतीश कुमार पर निकाली भड़ास 
तेजप्रताप ने कहा कि आगे भी "लालू रसोई" के जरिए लोगों को भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। इस दौरान उन्होंने नीतीश सरकार पर जमकर भड़ास निकाली और कोरोना महामारी और बाढ़ से त्रस्त जनता के लिए कोई काम नहीं करने का आरोप लगाया। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios