पटना। बिहार में तीन चरणों के कैम्पेन का शोर एक दिन पहले ही खत्म हो चुका है। अब आखिरी चरण का मतदान कल सुबह यानी 7 नवंबर को है। तीन चरणों में प्रचार के लिए पार्टियों ने कई बेतहाशा सभाएं और रैलियां कीं। पीएम नरेंद्र मोदी समेत केंद्रीय नेताओं से लेकर बिहार के दिग्गज अलग-अलग इलाकों में अपने अपने दलों के लिए वोट मांगने पहुंचे। हालांकि बीजेपी ने कैम्पेन में सबसे बड़ा अभियान चलाया। बीजेपी नेताओं ने 1000 से ज्यादा सभाएं, जनसंवाद और रोडशो किए। हालांकि सोलो कैम्पेन के मामले में महागठबंधन के सीएम फेस तेजस्वी यादव सब पर भारी हैं। तेजस्वी ने हर दिन औसतन 12 सभाएं कीं। इस दौरान उन्होंने एक दिन में सबसे ज्यादा सभा करने का रिकॉर्ड भी बनाया। 

बिहार में एक दिन में सबसे ज्यादा 16 सभा करने का रिकॉर्ड पहले आरजेडी चीफ लालू यादव के नाम था। लेकिन इस चुनाव में एक दिन में 19 सभा करके तेजस्वी ने पिता के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। लालू के जेल में बंद होने की वजह से आरजेडी के प्रचार का पूरा दारोमदार इस बार तेजस्वी के कंधों पर था। जानकारी के मुताबिक 16 अक्टूबर से 5 नवंबर के बीच 21 दिन में आरजेडी नेता ने 251 सभाएं कीं। यानी रोजाना करीब 12 सभाएं। आरजेडी नेता ने चार रोड शो भी किया। 

मोदी ने 12, नीतीश ने 113 सभाएं कीं 
पीएम नरेंद्र मोदी ने एनडीए के लिए तीन चरण में 12 सभाएं कीं। इन सभाओं के जरिए मोदी ने करीब 60 विधानसभा के मतदाताओं से एनडीए के पक्ष में अपील की। मोदी की सभाओं को वर्चुअल माध्यमों से पार्टी के अलग-अलग प्लेटफॉर्म से लाइव भी किया गया जिसमें लाखों लोगों के जुड़ने का दावा सामने आया है। मोदी की सभाओं में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा एनडीए नेता जीतनराम मांझी और मुकेश सहनी भी शामिल हुए। जबकि नीतीश ने 113 सभाएं कीं। इसमें से 103 विधानसभा क्षेत्रों में हुई और बाकी 10 वर्चुअल थी। नीतीश कुमार ने इन सभाओं के जरिए पूरे बिहार को कवर किया। 

बीजेपी का अभियान सबसे बड़ा 
इस बार बीजेपी ने 1000 से ज्यादा सभाएं कीं। इसमें 650 रैलियां, 350 जनसंवाद और बाकी रोड शो शामिल है। बीजेपी के लिए देशभर के 29 दिग्गज नेताओं ने प्रचार की कमान संभाली। इनमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, यूपी के सीएम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस जैसे बड़े नेता शामिल रहे। हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा के चीफ और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी एनडीए के लिए 24 सभाएं की। 

देरी से पहुंचे चिराग ने कीं 110 सभाएं, राहुल ने कीं सिर्फ 8  
पहले पिता रामविलास पासवान की खराब तबीयत और बाद में उनके निधन की वजह से एलजेपी चीफ चिराग पासवान बिहार के कैम्पेन में देरी से पहुंचे। हालांकि उन्होंने एलजेपी प्रत्याशियों के लिए 110 सभाएं और 9 रोड शो किए। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी प्रचार करने बिहार आएं। कांग्रेस नेता ने महागठबंधन के लिए सिर्फ 8 सभाएं कीं। 

पप्पू यादव और उपेंद्र कुशवाहा ने कितनी सभाएं कीं 
आरएलएसपी चीफ उपेंद्र कुशवाहा ने भी 18 दिनों में 147 जनसभाएं कीं। आरएलएसपी नेता ने 17 रोड शो भी किया। सभाओं के मामले में जनाधिकार पार्टी के चीफ पप्पू यादव भी किसी से पीछे नहीं है। पप्पू यादव ने अपने अभियान में करीब 180 सभाएं कीं।

यह भी पढ़ें :- 
वोटिंग से पहले चिराग ने फिर नीतीश पर छोड़े तीर, कहा- 15 साल सत्ता में रहे फिर भी लेना पड़ा 3 दोस्तों का सहारा 

नीतीश के अंतिम चुनाव वाले बयान पर JDU की सफाई, कहा- 'इसका मतलब राजनीति से संन्यास नहीं'