Asianet News HindiAsianet News Hindi

बिहारः लाइटर दबाते ही सिलेंडर में हुआ ब्लास्ट, अब तक 5 बच्चों की मौत, एक ही परिवार के हैं सभी

डीएम पूर्णिया राहुल कुमार ने कहा है कि सिलेंडर ब्लास्ट से 5 बच्चों की मौत के मामले में मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए की अनुग्रह राशि दी जाएगी। साथ ही घायलों को भी इलाज में मदद की जाएगी। घटनास्थल और पीड़ित परिवार के बीच बायसी सीओ को भेजा गया है।

Bihar Blast in cylinder on pressing lighters, 5 children of the same family died asa
Author
Bihar, First Published Jul 21, 2020, 1:21 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पूर्णिया (Bihar) । बिहार में बड़ा हादसा हुआ है। खाना बनाने वाले एलजीपी सिलेंडर में लाइटर जलाते ही ब्लास्ट हो गया। इससे एक ही परिवार के महिला सहित सात लोग झुलस गए थे, जिसमें आज पांच लोगों की मौत हुई है। मरने वाले सभी बच्चे बताए जा रहे हैं। यह घटना बायसी थाना के खपड़ा पंचायत के ग्वाल गांव की है। बताते हैं कि सोमवार की शाम सिलेंडर ब्लास्ट हुआ था। जिसमें झुलसे सात लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया था था। 

ऐसे हुआ हादसा
परिवार से जुड़े लोगों के मुताबिक सोमवार की शाम बायसी थाना के खपड़ा में वीरेंद्र यादव के घर में  खाना बनाने की तैयारी चल रही थी। घर का घरेलू गैस सिलेंडर पहले से लिक कर रहा था, जिसकी जानकारी महिलाओं को नहीं थी। इसी दौरान घर की महिला ने चूल्हा जलाने के लिए जैसे ही लाइटर जलाया वैसे ही सिलेंडर में आग लग गई। वह कुछ कर पाती की गैस सिलेंडर ब्लास्ट कर गया और घर में आग लग गई। सिलेंडर ब्लास्ट करने के कारण जोर का धमाका भी हुआ और घर के सात लोग झुलस गए।

आज हुई सभी बच्चों की मौत
आग लगने की खबर सुनकर आसपास के लोग दौड़कर आए और आग को बुझाया। इसके बाद सभी को इलाज के लिए पूर्णिया सदर अस्पताल लाया गया। जहां घायलों में से पांच ने आज सुबह इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। मृतकों में 5 बच्चे शामिल हैं, जिनके नाम गगन कुमार, रुचि कुमारी, अमन कुमार, प्रियांशु कुमार और प्रीति कुमारी हैं जबकि पिंटू यादव और बेबी देवी अभी भी नाजुक स्थिति में हैं। हादसे का शिकार हुए सभी लोग एक ही परिवार के सदस्य हैं।

प्रशासन ने कही ये बातें
डीएम पूर्णिया राहुल कुमार ने कहा है कि सिलेंडर ब्लास्ट से 5 बच्चों की मौत के मामले में मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए की अनुग्रह राशि दी जाएगी। साथ ही घायलों को भी इलाज में मदद की जाएगी। घटनास्थल और पीड़ित परिवार के बीच बायसी सीओ को भेजा गया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios