Chhath Puja: CM नीतीश कुमार खुद उतरे मैदान में, देखी छठ घाटों की व्यवस्थाएं, बोले- इस साल ऐहतियात की जरूरत

| Oct 28 2021, 09:33 AM IST

Chhath Puja: CM नीतीश कुमार खुद उतरे मैदान में, देखी छठ घाटों की व्यवस्थाएं,  बोले- इस साल ऐहतियात की जरूरत

सार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) ने बुधवार को छठ महापर्व (Chhath Puja 2021) से पहले गंगा घाटों का निरीक्षण किया और अफसरों को व्यवस्थाएं पूरी तरह दुरुस्त रखने के निर्देश दिए। सीएम ने कहा- व्रतियों की सुविधा का विशेष ख्याल रखें। पटना (Patna) में गंगा नदी के किनारे बड़ी संख्या में लोग छठ महापर्व को मनाते हैं। यहां छठ महापर्व की तैयारियों के मद्देनजर विभिन्न घाटों का जायजा लिया। 

पटना। बिहार में लोकआस्था का महापर्व छठ पूजा (Chhath Puja 2021) को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। यहां छठ घाटों पर साफ-सफाई और व्यवस्थाओं को पूरी तरह दुरुस्त किया जा रहा है। बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने खुद पटना में छठ पूजा के घाटों का निरीक्षण किया। उन्होंने स्टीमर से गांधी घाट से पटना सिटी के कंगन घाट तक गंगा घाटों पर तैयारियों के बारे में जानकारी ली। इसके बाद सीएम ने दानापुर के नासरीगंज तक भी गंगा घाटों का निरीक्षण किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने घाटों की सफाई, सुरक्षा और स्वच्छता के संबंध में अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि गंगा नदी की टापूनुमा संरचना पर छठ व्रतियों को अर्घ्य देने में कोई परेशानी न हो, इसकी व्यवस्था सुनिश्चित करें। टापूनुमा संरचना पर छठ व्रतियों के आवागमन की व्यवस्था के लिए कलेक्ट्रेट घाट और महेन्द्रू घाट से टापूनुमा संरचना तक पीपापुल का निर्माण कराया जा रहा है। बांस घाट से भी टापूनुमा संरचना तक पीपा पुल के निर्माण की संभावनाओं को तलाशें। उन्होंने किसी भी तरह की कोताही नहीं बरतने के निर्देश दिए। बता दें कि छठ पूजा में अस्ताचलगामी सूर्य को 10 नवंबर और उगते सूरज को 11 नवंबर को अर्घ्‍य दिया जाएगा। 

Subscribe to get breaking news alerts

बिहार में बेटियों के लिए अच्छी खबर, CM नीतीश ने दिया बड़ा तोहफा..अब इस फील्ड में भी लहराएंगी परचम

सीएम ने कहा- छठ व्रतियों की सुविधाओं का भी विशेष ख्याल रखें
सीएम ने कहा कि छठ व्रतियों की सुरक्षा को ध्यान में रखा जाए। यह ध्यान में रखकर ही छठ घाटों का निर्माण करें, ताकि अर्घ्य देने में कोई परेशानी ना हो। गंगा नदी के जलस्तर और प्रवाह को देखते हुए छठ घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रखें। यह भी सुनिश्चित करें कि छठ व्रतियों की सुरक्षा के साथ-साथ उनको हर तरह की सहूलियत मिले। किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े। उन्होंने छठ घाटों के पास सुरक्षा के दृष्टिकोण से ठीक ढंग से बैरिकेडिंग कराने को कहा। साथ ही नदी किनारे की सड़कों के पास भी बैरिकेडिंग किए जाने के निर्देश दिए। 

मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के इन विधायक को सुनिए...शराब के ऊपर दे रहे हैं ज्ञान, कहा- संस्कार है

गंगा नदी का प्रवाह काफी ज्यादा, इसलिए सावधानी की जरूरत
मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पटना की गंगा नदी के किनारे बड़ी संख्या में लोग छठ महापर्व को मनाते हैं। छठ महापर्व की तैयारियों के मद्देनजर हम लोगों ने आज विभिन्न घाटों का जायजा लिया है। छठ घाटों की तैयारियों के संबंध में लोगों से विचार-विमर्श कर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। इस बार अधिक बारिश होने से गंगा नदी में पानी का प्रवाह काफी ज्यादा है। ऐसे में छठ घाटों पर सुरक्षा इंतजाम जरूरी हैं, ताकि लोगों को कोई परेशानी नहीं हो।

 

3 नवंबर को फिर व्यवस्थाएं देखेंगे सीएम
सीएम ने कहा कि अधिकारी और इंजीनियर गंगा के किनारे के घाटों का जायजा लेकर छठ महापर्व को लेकर स्थल का चयन करके काम शुरू कर देंगे ताकि छठ व्रतियों को कोई दिक्कत नहीं हो। उन्होंने कहा कि वे 3 नवंबर को एक बार फिर से छठ घाटों का निरीक्षण करके तैयारियों का जायजा लेंगे।