Asianet News HindiAsianet News Hindi

बिहार: अपराधियों के हमले में किसी थानेदार का सिर फटा, पैर टूटे, पथराव में 25 सिपाही जख्मी, युवक की माैत

बिहार (Bihar) में पंचायत चुनाव (Panchayat Election) चल रहे हैं। ग्रामीण इलाके में दबंगई भी खूब देखने को मिल रही है। यहां पटना (Patna) के मसौढ़ी इलाके में चुनाव प्रचार रोकने गई पुलिस पर अपराधियों ने हमला कर दिया। अचानक डंडे चले और फायरिंग हुई तो पुलिसवाले जान बचाकर थाने भागे। ऐसा लगा मानो पुलिस ने अपराधियों के आगे सरेंडर कर दिया हो।

Bihar Patna criminals attacked police for preventing from campaigning in Panchayat elections in large number of badly injured
Author
Patna, First Published Oct 23, 2021, 9:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। पंचायत चुनाव (Panchayat Election) के बीच बिहार (Bihar) में अपराधियों ने बड़े दुस्साहस को अंजाम दिया है। यहां धनरूआ थाना के मोरियामा गांव में पुलिस और ग्रामीणों में झड़प हो गई। मामला इतना बढ़ गया कि जमकर पत्थरबाजी और गोलीबारी होना शुरू हो गई। एक युवक की मौत हो गई। जबकि सर्किल इंस्पेक्टर, थानेदार के सिर फूट गए हैं। एक कांस्टेबल का भी सिर बुरी तरह फूटा है। इसके अलावा, 25 से ज्यादा पुलिसवाले जख्मी हो गए। हालांकि, एसएसपी ने 15 सिपाहियों के घायल होने की पुष्टि की। 3 ग्रामीणों के भी घायल होने की खबर है। घटना के बाद पुलिस ने पूरे गांव को चारों तरफ से घेर लिया। पुलिस के आलाधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं और कैंप कर रहे हैं। 

बताया जा रहा है कि शुक्रवार को धनरूआ के मोरियामा में पंचायत चुनाव को लेकर दो गुटों के बीच विवाद बढ़ गया। दरअसल,  यहां मुखिया पद का एक उम्मीदवार प्रचार का समय (शाम 5 बजे) खत्म होने के बाद भी इलाके में प्रचार कर रहा था। इसे दूसरे दल के लोगों ने रोक दिया, जिसके बाद विवाद बढ़ गया। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची और मामले को सुलझाने की कोशिश करने लगी, जिसके बाद ग्रामीण पुलिस से ही भिड़ गए। 

कद 3 फीट, लेकिन इरादे बड़े लेकर चुनाव लड़ रहा ये शख्स, जो कल तक उड़ाते थे मजाक वह भी ठोक रहे सलाम

पुलिस को देखकर भड़के ग्रामीण
आरोप है कि मुखिया पद के उम्मीदवार और उसके बेटे ने अपने समर्थकों को भड़का दिया। इसके बाद समर्थकों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया। उस वक्त पुलिस टीम किसी तरह जान बचाकर वापस थाना आ गई। फिर वरिष्ठ अधिकारियों को जानकारी दी गई। इसके बाद बड़ी संख्या में पुलिसबल कार्रवाई करने पहुंचा तो इसे देखकर ग्रामीण भड़क गए। हमले में सर्किल इंस्पेक्टर रामकुमार का पैर टूट गया है और धनरुआ थानेदार राजू कुमार का सिर फट गया है। एक कांस्टेबल का सिर भी बुरी तरह फट गया है। कुछ पुलिस वालों की हालत गंभीर बताई जा रही है। पुलिस ने करीब 30-40 राउंड फायरिंग की।

चुनाव प्रचार में शामिल लोगों ने चलाई गोली
ग्रामीणों के अनुसार, गोली लगने से 25 साल के रोहित चौधरी नाम के युवक की मौत की सूचना है। गोली किसकी ओर से लगी, यह अभी तक कोई नहीं बता रहा है। पुलिस अभी रोहित की मौत की भी पुष्टि नहीं कर रही है। घटना के बाद से पूरे गांव में अफरा-तफरी का माहौल बना है।

सामने आई लोकतंत्र की सुंदर तस्वीर, देहाड़ी मजदूर ने चुनाव जीत रचा इतिहास, कही दिल छू लेने वाली बात

6 थाने की पुलिस पहुंची और मामला संभाला
ग्रामीणों ने बताया कि इस घटना में पुलिस और चुनाव प्रचार कर रहे लोगों के बीच झड़प हुई, फिर ये पत्थरबाजी और गोलीबारी में बदल गई। घटना की सूचना मिलने पर आसपास के करीब 6 थानों की पुलिस भी पहुंच गई और मामले को शांत कराया है। आलाधिकारी भी समय पर पहुंच कर स्थिति का मुआयना कर रहे हैं।

स्थानीय पुलिस को शुक्रवार शाम 4 बजे के बाद भी लाउडस्पीकर बजाने की सूचना मिली थी। गांव में टीम गई। उसके बाद ही पूरी घटना हुई। जिस युवक की मौत हुई है, उसका पोस्टमार्टम होगा। रिपोर्ट के बाद ही पता चलेगा कि उसकी मौत पुलिस की गोली से हुई है या दूसरे किसी की गोली से। 15 पुलिस वाले गंभीर रूप से जख्मी हैं। कुछ को हल्की चोटें आई है। फिलहाल, हालात काबू में है। पूरे मामले की जांच कर रहे हैं। - उपेंद्र कुमार शर्मा, एसएसपी, पटना 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios