Asianet News HindiAsianet News Hindi

टायर पंचर बनाने वाले ने बिहार पुलिस के सिपाही को मार डाला, एक्सीडेंट का दिया रूप, सड़क किनारे फेंका शव

सड़क किनारे चंद्रशेखर पंझा का शव मिलने के बाद शुरुआती दौर में पुलिस भी सड़क दुर्घटना में मौत होने समझकर पोस्टमार्टम के लिये बांका भेज दिया। लेकिन, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृतक के सिर पर रॉड से प्रहार की पुष्टि होने के बाद से पुलिस जांच करते हुए टायर पंचर बनाने वाले रितेश के पास पहुंच गई। इसके बाद हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया तो उसने हत्या की बात कुबूल ली। 

Bihar Police soldier beaten to death by rod,  body thrown on road side ASA
Author
Bihar, First Published Jul 17, 2020, 2:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बांका (Bihar ) । बिहार पुलिस के एक सिपाही की हत्या कर दी गई। घटना के बाद उसके शव को सड़क किनारे फेंककर एक्सीडेंट का रुप दिया गया। लेकिन, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की बात सामने आई। जिसके आधार पर पुलिस ने बाइक के टायर पंचर बनाने वाले को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही हमले में इस्तेमाल रॉड भी बरामद कर लिया गया है। यह घटना रजौन थाना क्षेत्र के नारिपा मोड़ की है।

यह है पूरा मामला
रजौन के मिर्जापुर संझा के चंद्रशेखर पंझा की नियुक्ति इसके पहले रोहतास जिले में थी। जहां से कुछ दिन पहले ही उनका तबादला आरा कर दिया गया था। रास्ते में बाइक पंचर हो हो गई। जिसे बनवाने के लिए वो रजौन थाना क्षेत्र के नारिपा मोड़ पर रितेश नाम के एक युवक की दुकान पर गए। आरोप है कि इसी दौरान चंद्रशेखर पंझा से कहासुनी हुई, जिसमें रितेश यादव ने टायर खोलने वाले लीवर से प्रहार किया। इससे घटनास्थल पर ही पुलिस जवान की मौत हो गई। मौत के बाद चंद्रशेखर पंझा के शव को सड़क के दूसरे किनारे फेंककर इसे सड़क दुर्घटना का शक्ल देने की कोशिश की गई। जिसकी सूचना मृतक के घर तक भी पहुंचाई गई। मृतक चंद्रशेखर पंझा के पुत्र रौशन ने बताया कि सुबह साढ़े पांच बजे बाइक से भागलपुर के लिए निकले थे। जहां से पटना होते हुए आरा जाना था।

पोस्टमार्टम से खुला राज
सड़क किनारे चंद्रशेखर पंझा का शव मिलने के बाद शुरुआती दौर में पुलिस भी सड़क दुर्घटना में मौत होने समझकर पोस्टमार्टम के लिये बांका भेज दिया। लेकिन, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृतक के सिर पर रॉड से प्रहार की पुष्टि होने के बाद से पुलिस जांच करते हुए टायर पंचर बनाने वाले रितेश के पास पहुंच गई। इसके बाद हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया तो उसने हत्या की बात कुबूल ली। मामला स्पष्ट होते ही हत्या में इस्तेमाल रॉड भी बरामद कर लिया गया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने बताया कि बाइक का पंचर बनाने के दौरान चंद्रशेखर पंझा से कहासुनी हुई, जिसमें रितेश यादव ने टायर खोलने वाले लीवर से प्रहार किया। इससे घटनास्थल पर ही पुलिस जवान की मौत हो गई।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios