पटना। कोरोना संकट और लॉकडाउन से उपजे हालात में केंद्र के साथ-साथ राज्य सरकारें विपक्ष के निशानें पर है। बिहार में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है और इसे लेकर राजद समेत अन्य विपक्षी दल सीएम नीतीश कुमार के काम-काज पर सवाल उठा रहे हैं। 

अब विपक्ष के साथ-साथ सहयोगी दल के नेता भी नीतीश पर सवाल उठाने लगे हैं। भाजपा के दिग्गज नेता और एमएलसी संजय पासवान ने नीतीश कुमार पर तीखा तंज कसा। संजय पासवान ने कहा कि क्वारेंटाइन सेंटर में बेहतर व्यवस्था नहीं है, प्रवासी मजदूर परेशान हैं। अधिकारी अपने मन की कर रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अपने घर से निकलना चाहिए। वो कब तक एसी रूम में रहेंगे। 

लॉकडाउन बढाए जाने पर जताया नाराजगी 
संजय पासवान ने कहा कि कोरोना से जारी जंग में तमाम नेता बाहर निकल रहे हैं। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी बाहर निकल रहे हैं। बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी भी बाहर निकल रहे हैं। तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी घर से बाहर निकलना चाहिए। 

भाजपा एमएलसी के साथ-साथ सरकार में शामिल लोजपा के नेता राजू तिवारी ने कहा कि बिहार सरकार के अधिकारी काम नहीं करते। संजय पासवान ने लगातार लॉकडाउन को बढ़ाए जाने पर भी ऐतराज जताया। उन्होंने कहा कि यदि अब लॉकडाउन को बढ़ाया जाता है तो लोग मेंटल हो जाएंगे। 

कोरोना के साथ लोगों को जीना होगा
संजय पासवान ने कहा कि जो भारतीय पद्धति है, उसी से कोरोना का इलाज हो सकता है। अभी इसी के साथ हर व्यक्ति को काम करना होगा। उन्होंने एड्स का उदाहरण देते हुए कहा कि आज तक ना एड्स का इलाज संभव नहीं है। मगर इसी के साथ लोग जी रहे हैं। ऐसे ही कोरोना के साथ यूज टू होकर लोगों को जीना होगा। उल्लेखनीय हो कि लॉकडाउन में मिली ढील के बाद बिहार में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस समय राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या 2400 के पार हो चुकी है।