सहरसा। बिहार की शोक कही जाने वाली कोसी नदी में बुधवार को एक बड़ा हादसा हो गया। 14 लोगों से भरी नाव बीच नदी में पलट गई। नाव पर सवार 6 लोग तैरकर बाहर निकल गए। लेकिन शेष 8 लोगों के डूबने की मौत की आशंका जताई जाती है। दो महिलाओं का शव बरामद कर लिया गया है। मौके पर एसडीआरएफ और गोताखोर की टीम भेजी गई है। गोताखोरों की टीम लगातार शेष बचे लोगों को तलाश रही है। डीएम शैलजा शर्मा ने दो महिलाओं के मौत की पुष्टि की है। डूबे हुए शेष लोगों की तलाश की जा रही है। 

छतवन गांव की दो महिला का शव मिला
घटना सहरसा जिले के नौहट्टा थाना क्षेत्र की है। डरहार ओपी के समीप बुधवार की दोपहर एक नाव पलट गई। बताया जा रहा है कि नाव पर 14 लोग सवार थे। दो शव नदी से निकाला जा चुका है। मरने वालों में छतवन  गांव की अनमोल देवी ( 35 वर्ष) और झरवा गांव की पूनम कुमारी ( 18 वर्ष) शामिल है। नाव पर सवार कुल 14 लोग में से 6 लोग तैरकर निकल गए। दो की लाश मिली है।  बाकी 6 लापता बताए जा रहे हैं। दुर्घटनाग्रस्त नाव को नाविकों ने निकाल लिया है। घटना की सूचना के बाद एसडीआरएफ की टीम घटनास्थल पर पहुंच गई है। 

क्षमता से अधिक लोग नाव पर थे सवार
घटना की जानकारी स्थानीय पुलिस को दे दी गई है। मौके पर पहुंची एसडीआरएफ की टीम लापता लोगों की तलाश में जुटी है। दूसरी ओर से इस घटना से छतवन गांव में मातम का माहौल है। बताया जाता है नाव पर क्षमता से अधिक लोग सवार थे। नदी में कुछ दूर आगे बढ़ने के बाद तेज हवा में नाविक का नाव पर से संतुलन जाता रहा। इसी क्रम में नाव पलट गई। बता दें कि दुर्गा पूजा के समय कोसी नदी में बाढ़ आया हुआ था। बाढ़ का पानी तो अब थम गया है। लेकिन कई जगह नदी खतरनाक हो चुकी है।