पटना (बिहार).पूरे देश में कोरोना नाम की सुनामी से हाहाकार मचा हुआ है, रोजाना लाखों लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं। तो वहीं हाजरों लोगों की मौत हो रही है। अब इसके कहर से कोई नही बच पा रहा है। इस महामारी के दौर में देवदूत बने डॉक्टर भी अब इसके शिकार होने लगे हैं। इसी बीच बिहार की राजधानी पटना से बड़ी खबर सामने आई है। जहां 500 से ज्यादा डॉक्टर नर्स कोरोना संक्रमित हो गए। इस घटना के बाद शासन-प्रशासन से लेकर आम जनता तक में हड़कंप मच गया।

सिर्फ दो अस्पतालों में फूटा कोरोना का बम
दरअसल, कोरोना का यह बम पटना के एम्स अस्पताल और  पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (PMCH) में फूटा है। एम्स में जहां 384 डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं PMCH में 130 डॉक्टर नर्स की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पटना एम्स के चिकित्सा अधीक्षक सीएम सिंह ने अपने डॉक्टरों, नर्सों और स्वच्छता कर्मचारियों के संक्रमित होने की पुष्टि की है। वहीं पीएमसीएच केअधीक्षक डॉक्टर इंदु शेखर ठाकुर ने बताया कि हमारे मेडिकल कॉलेज से 125 से अधिक कर्मचारी संक्रमित हो गए हैं। इनमें से 70 डॉक्टर हैं जबकि 55 से अधिक नर्स और अन्य स्वास्थ्यकर्मी हैं।

डॉक्टरों के संक्रमित मिलने के सहमें शहर के लोग
इस घटना के बाद शासन-प्रशासन से लेकर आम जनता तक में हड़कंप मच गया। राजधानी में एक साथ 500 से ज्यादा डॉक्टरों, नर्सों, लैब तकनीशियनों और अन्य कर्मचारियों के कोरोनो संक्रमित होने के चलते राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था प्रभावित हुई है। इतना ही नहीं 200 से अधिक पुलिसकर्मी भी कोविड पॉजिटिव मिले हैं। डॉक्टरों के संक्रमित मिलने के बाद शहर के लोग डरे हुए हैं। किसी ने कहा कि अब कौन मरीजों का इलाज करेगा, जो करते थे वह खुद इसके शिकार हो गए।

बिहार में ऐसा है कोरोना का कहर
बता दें कि बिहार में पिछले 42 घंटे के दौरान 12,222 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं 56 लोगों की मौत हो चुकी है। वर्तमान में बिहार में कोरोना वायरस के 63,745 सक्रिय मामले हैं। अब तक राज्य में 1,897 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 354281 हो गई है।