बेगूसराय। बिहार में कोरोना संक्रमण के मामलों की रफ्तार रोज बढ़ रही है। इस बीच रेल के जरिए दूसरे राज्यों से मजदूरों के आने का सिलसिला भी शुरू है। बेगूसराय में लौटे मजदूरों की तस्वीरें अनहोनी की तरफ इशारा कर रही हैं। दरअसल, बेगूसराय के बरौनी जंक्शन पर कोरोना को लेकर हेल्थ गाइड लाइंस धरे के धरे रह गए। 

सोशल डिस्टेन्स की उड़ी धज्जियां 
सोशल डिस्टेन्स का कोई मतलब नहीं था और लोग एक-दूसरे को छू रहे थे। इस दौरान जिला प्रशासन ने बरौनी प्लेटफार्म पर नाश्ते का पैकेट भी दिया जिसे लेकर लोग छीना झपटी करते दिखे। मंगलवार को कैमूर से कटिहार तक चलने वाली श्रमिक स्पेशल बरौनी ट्रेन पहुंची थी। ट्रेन के आते ही अचानक मजदूरों का रेला उमड़ पड़ा। मौके पर मौजूद प्रशासन भीड़ से अलग होकर तमाशा देखता रहा। 

बिना जांच के निकले मजदूर 
स्थानीय प्रशासन को 400 यात्रियों के आने की सूचना थी। मगर ट्रेन से प्लेटफॉर्म पर 1000 से भी ज्यादा यात्री उतरे। जांच के लिए सिर्फ चार टीमें थी। हंगामे की स्थिति बन गई। कई मजदूर बिना जांच के ही रेलवे प्लेटफार्म से बाहर निकल गए। 

कोरोना को लेकर अगर इस तरह की लापरवाही रही तो इसका खामियाजा सभी को भुगतना पड़ेगा। 

(प्रतीकात्मक फोटो)