Asianet News HindiAsianet News Hindi

शादी का झांसा देकर विधवा भाभी से देवर ने बनाए संबंध, गर्भ ठहरने के बाद की मारपीट

मुजफ्फरपुर के मोतीपुर थाना क्षेत्र में विधवा भाभी के साथ देवर के जबरन संबंध बनाने का मामला सामने आया है। गर्भ ठहरने के बाद पीड़िता के साथ मारपीट भी की गई। पीड़िता ने पुलिस में चार लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है।  
 

Devar formed relationship with widow sister-in-law beating after pregnancy
Author
Muzaffarpur, First Published Dec 31, 2019, 12:47 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुजफ्फपुर। जिले के मोतीपुर थाना क्षेत्र से शादी का झांसा देकर विधवा भाभी से देवर के संबंध बनाने का एक मामला सामने आया है। मामले की पीड़िता गर्भवती है। जब उसने देवर पर शादी का दवाब बनाया तो उसके साथ मारपीट की गई। महिला का कहना है कि उसके पेट पर इस तरह से मारा गया कि बच्चा गिर जाए। महिला ने मोतीपुर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। जिसके बाद से पुलिस आरोपी की धरपकड़ के लिए छानबीन कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार महिला के पति की मौत 2016 में हो गई थी। 

सास-ससुर ने लोक-लाज से महिला को कराया चुप
महिला दो बच्चों की मां है। पति की मौत के बाद महिला अपने बच्चों के साथ ससुराल में रहा करती थी। जहां छह माह पूर्व देवर से उसके साथ जबरदस्ती की। जब उसने ससुराल के अन्य लोगों को इसके बारे में बताया तो सास-ससुर ने लोक-लाज से महिला को चुप करा दिया और देवर से शादी कराने की बात कही। इसके बाद देवर ने कई बार महिला के साथ संबंध बनाए। इसी दौरान महिला गर्भवती हो गई। गर्भवती होने के बाद जब महिला ने देवर पर शादी का दवाब बनाना शुरू किया तो उसके साथ मारपीट की गई।  

20 दिसंबर को पीड़िता के साथ हुई मारपीट
पीड़िता ने अपने देवर जय प्रकाश सहित प्रभु महतो, माया देवी, विजय कुमार सहित अन्य के खिलाफ मोतीपुर थाने में मामला दर्ज कराया है। आरोप है कि जब उसने यह बात परिजनों को बताई और शादी की बात की तो उसे गर्भपात कराने को कहा गया। जब उसने इनकार किया तो उसके साथ मारपीट की गई। आरोप है कि विगत 20 दिसम्बर को सभी आरोपियों ने मिलकर बच्चा नुकसान कराने की नियत से उसके पेट पर मारा। गर्भपात नहीं कराने पर दोनों बच्चों को जान से मार देने की धमकी दे रहे हैं। 

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी
मामले में मोतीपुर थानाध्यक्ष अनिल कुमार ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। अब पीड़िता की मेडिकल जांच कराई जाएगी। फिर न्यायालय में बयान दर्ज कराने की प्रक्रिया की जाएगी। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। पुलिस में केस दर्ज होने के बाद आरोपी फरार बताए जाते है। इस घटना के बाद पीड़िता अपने बच्चों के साथ मायके आ गई है। घटना के बाद से मायके पक्ष के लोग भी परेशान है।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios