Asianet News HindiAsianet News Hindi

शराब के नशे में धुत पुलिसवाले ने किया हंगामा, CM एसपी को खुलेआम दी ऐसी धमकियां

बिहार में शराबबंदी है। यहां शराब बेचना, पीना, रखना तक कानूनन अपराध है। लेकिन जिस पुलिस पर शराबबंदी कानून को लागू कराने का जिम्मा है, वहीं इस कानून का माखौल उड़ाते फिर रहे हैं। ताजा मामला मुंगेर जिले का है।

drunken policeman made noise in market in munger later arrested kpm
Author
Munger, First Published Jan 5, 2020, 4:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंगेर। बिहार में शराबबंदी कानून की पोल को फिर एक पुलिसवाले ने खोल कर रख दिया है। कहने को तो बिहार ड्राय स्टेट है। यहां शराब बेचना, पीना, रखना तक कानूनन अपराध है। लेकिन जिस पुलिस पर शराबबंदी कानून को लागू कराने का जिम्मा है, वहीं इस कानून का माखौल उड़ाते फिर रहे हैं। ताजा मामला मुंगेर का है। जहां खाकी वर्दी में पुलिस का एक जवान शराब के नशे में इस कदर धुत्त था कि उसने एसपी, डीआईजी से लेकर सीएम तक को धमकी दे डाली। करीब एक घंटे तक उक्त जवान सड़क किनारे बैठ कर हंगामा करता रहा और लोग उसका वीडियो बनाते रहे।

मुंगेर मंडल कारा में तैनात हैं शराबी जवान 
लोगों ने जब इस बात की सूचना डीआईजी मनु महाराज को दी तो उन्होंने कोतवाली थाना को सूचना देकर शराबी पुलिस को गिरफ्तार करवाया। उक्त जवान की पहचान मुंगेर मंडल कारा में तैनात विनय कुमार सिंह के रूप में हुई है। वह मुंगेर के ही पूरबसराय पटेल नगर का रहने वाला है। शनिवार को उसने जमकर शराब पी। जिसके बाद बाइक से जाने के निकला। लेकिन नशे में वो बाइक नहीं संभाल पा रहा था। ऐसी स्थिति में सड़क किनारे बाइक खड़ी कर वह बैठ गया। 

एक घंटे तक चलता रहा शराबी जवान का ड्रामा
जब स्थानीय लोगों ने उससे नाम-पता पूछा तो वह गाली-गलौज करने लगा। लोगों ने एसपी की बात की तो वो जिले की नवपदस्थापित एसपी लिपि सिंह को भी गाली देने लगा। शराबी जवान वहीं तक नहीं रुका उसने डीआईजी से लेकर सीएम तक को धमकी दे डाली। उसका कहना था कि कोई उसका कुछ नहीं कर सकता। अस्पताल के समीप शराबी पुलिस का यह ड्रामा करीब एक घंटे तक चलता रहा। लोग शराबी पुलिस की हरकत को अपने मोबाइल में कैद करते दिखे। जानकारी मिलने पर कोतवाली पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया। कागजी करवाई के बाद जेल भेज दिया गया। 

फोन पर होती है शराब की डिलवरी
मिली जानकारी के अनुसार विनय कुमार सिंह पहले भी साल 2017 के में शराब के नशे में मंडल कारा में अपने साथियों के साथ मारपीट करने के जुर्म जेल गया था। बता दें कि बिहार में 1 अप्रैल 2016 से पूर्ण रूपेण शराब बंदी है। लेकिन इस बंदी के बाद भी बिहार के हर शहर में शराब मिल जाता है। लोग फोन पर शराब की डिलवरी कर रहे हैं। नशे में युवक गिरफ्तार होते हैं, बड़ी-बड़ी खेप पकड़ी जाती है। अब तो पुलिस कर्मी ने ही सरकार के नियम की धज्जियां उड़ा दी।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios