Asianet News HindiAsianet News Hindi

सुपौल में कन्हैया कुमार के काफिले पर हमला, पिकअप वैन का शीशा तोड़ा, ड्राइवर जख्मी

सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ जन-मन कार्यक्रम के तहत सपौल में आयोजित सभा में शामिल हो कर सहरसा लौटते समय सीपीआई नेता कन्हैया कुमार के काफिले पर हमला किया गया। इसमें एक व्यक्ति  घायल भी हुआ है। 

kanhaiya kumar faces attack at supaul bihar driver injured pra
Author
Supaul, First Published Feb 6, 2020, 10:41 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सुपौल। सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ जन-मन कार्यक्रम के तहत संघर्ष मोर्चा द्वारा आयोजित सभा में शामिल होने के बाद वापस लौट रहे भाकपा कन्हैया कुमार को जिला मुख्यालय में जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा। जैसे ही कन्हैया का काफिला मल्लिक चौक पहुंचा, बड़ी संख्या में युवाओं ने सड़क जाम कर गाड़ी घेरा लिया। इस दौरान लोगों ने कन्हैया के खिलाफ नारेबाजी की और काफिले की गाड़ियों पर पथराव भी किया। इस पथराव में काफिले की एक गाड़ी के शीशे टूट गए। वही एक ड्राइवर के घायल होने की सूचना है।

पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया 
बाद में मौके पर पहुंचे सदर एसडीएम कयूम अंसारी, एसडीपीओ विद्यासागर व सदर थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह ने हस्तक्षेप कर कन्हैया के काफिले को सहरसा के लिए रवाना किया। घायल ड्राइवर का नाम मो. एजाज बताया जा रहा है। इधर, मामले में पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया है। इधर, दावा है कि काफिला मल्लिक चौक से आगे गुजरा तो आगे कोसी कॉलोनी चौक और शहर के वार्ड 19 भेलाही में भी काफिला में शामिल लोगों ने स्थानीय युवकों के साथ मारपीट की। इसके बाद इन इलाकों के युवक भी आक्रोशित हो गए।

स्थानीय लोगों का दावाः बेवजह फंसाने की हो रही कोशिश
बताया जा रहा है कि जिस युवक को हिरासत में लिया गया है, वह भी कोसी कॉलोनी चौक का निवासी है। ऐसे में कोसी कॉलोनी और भेलाही के दर्जनों युवक घटना के बाद सदर थाना पहुंचे। जहां युवकों ने हिरासत में लिए गए व्यक्ति को मुक्त कराने की मांग की। हालांकि एसडीपीओ विद्यासागर ने किसी को भी हिरासत में लिए जाने की बात से इनकार किया। उन्होंने बताया कि कन्हैया कुमार के काफिले में शामिल एक पिकअप वैन, जिस पर एनआरसी लिखा था और गांधी और अंबेडकर की फोटो लगी थी, उस पर कुछ युवकों ने पत्थर चलाए। जिससे पिकअप वैन का शीशा टूटा है। उन्होंने बताया कि पूरे प्रकरण की वीडियोग्राफी कराई गई है। कुछ चेहरों की पहचान हुई है। मामले में प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। वही दूसरी तरफ स्थानीय लोगों का कहना है कि प्रशासन द्वारा बेवजह लोगों को फंसाने की कोशिश की जा रही है। जिसका विरोध किया जाएगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios