Asianet News HindiAsianet News Hindi

86 लोगों में कोरोना फैलाने वाले बुजुर्ग ने जीती जिंदगी की जंग, बिहार में अभी तक 91 मरीज हुए ठीक

कोरोना का हॉट स्पॉट बने बिहार के मुंगेर जिले में एक बुजुर्ग से 86 लोग संक्रमित हुए थे। जिले में इस चेन से संक्रमित होने वाले मरीजों का सिलसिला अब भी जारी है। इस बीच जिले के लिए राहत भरी खबर यह आई है कि इस चेन के केंद्र बने 60 वर्षीय बुजुर्ग फिट होकर घर लौट चुके हैं। 

nine corona positive patient discharged from nmch in bihar after third report came negative pra
Author
Munger, First Published May 2, 2020, 4:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंगेर। कोरोना के मरीजों की संख्या के साथ-साथ बिहार में इस खतरनाक बीमारी को मात देने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। एक तरफ आज राज्य में कोरोना से एक और मौत व 9 नए मरीज मिले, वहीं दूसरी ओर राज्य के 9 कोरोना मरीजों ने इस महामारी को मात देकर जिंदगी की जंग जीत ली। इन 9 मरीजों में मुंगेर के 60 वर्षीय जमाती भी शामिल हैं, जिसने शुरू हुए चेन से मुंगेर राज्य में कोरोना का हॉट स्पॉट बना। 15 अप्रैल को कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद मुंगेर के जमालपुर के सदर बाजार निवासी 60 वर्षी मो. अली अहमद को एनएमसीएच में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। 

आज 9 मरीजों ने कोरोना को दी मात
17 दिन बाद आज मो. अली अहमद जिंदगी की जंग जीतने में सफल रहे। पटना के एनएमसीएच से कोरोना को मात देने वाले 9 मरीजों में से मुंगेर के अली अहमद के अलावा सोनी देवी नाम की एक महिला भी शामिल है। सोनी देवी को एनएमसीएच में 24 अप्रैल को एडमिट किया गया था। इसके अलावा पटना और नालंदा के तीन-तीन और मरीज और बक्सर के एक मरीज ने कोरोना को मात देकर जिंदगी की जंग जीती। इन सभी 9 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर अपने-अपने घर भेजा जा चुका है।

बिहार में अब तक कुल 475 मामले
इन 9 मरीजों के साथ ही कोरोना को मात देने वाले मरीजों की संख्या राज्य में बढ़कर 91 हो गई है। बता दें कि अभी तक बिहार में कोरोना के कुल 475 मामले सामने आए है। जिसमें से चार की मौत हुई है। जबकि 91 फिट होकर घर को लौट चुके हैं। मुंगेर के जिस व्यक्ति से शुरू हुए संक्रमण की चेन में आकर 86 लोग संक्रमित हुए वो भी अब फिट हो चुके हैं। बता दें कि एनएमसीएच सहित राज्य के अन्य अस्पतालों में एडमिट कोरोना के मरीजों की इलाज के दौरान तीन लगातार रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया जाता है।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios