इंजीनियर के किराए के घर में छापेमारी, बैगों में भरे थे नोटों के बंडल और गहने, गिनने के लिए मंगानी पड़ी मशीन

| Dec 04 2022, 11:56 AM IST

इंजीनियर के किराए के घर में छापेमारी, बैगों में भरे थे नोटों के बंडल और गहने, गिनने के लिए मंगानी पड़ी मशीन
इंजीनियर के किराए के घर में छापेमारी, बैगों में भरे थे नोटों के बंडल और गहने, गिनने के लिए मंगानी पड़ी मशीन
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

महज दो लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किए गए भवन निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता संजीत कुमार के आवास से निगरानी ब्यूरो ने लगातार चली छापेमारी में एक करोड़ आठ लाख रुपये बरामद किए हैं।

पटना( Bihar).  बिहार में भवन निर्माण विभाग के इंजीनियर के घर पुलिस को छापेमारी के दौरान बेशुमार दौलत मिली है। बैगों में भरे नोट और गहने का आंकड़ा तैयार करते सुबह से शाम हो गई। महज दो लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किए गए भवन निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता संजीत कुमार के आवास से निगरानी ब्यूरो ने लगातार चली छापेमारी में एक करोड़ आठ लाख रुपये बरामद किए हैं। इसके अलावा करीब 27 लाख के सोने-चांदी के जेवर भी बरामद किए गए हैं।  शनिवार को इंजीनियर संजीत कुमार को निगरानी की विशेष कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

गौरतलब  है कि निगरानी ब्यूरो ने शुक्रवार को गर्दनीबाग से भवन निर्माण विभाग के केंद्रीय प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता संजीत कुमार को आनंद कुमार नामक एक ठेकेदार से कराए गए कार्य का भुगतान करने के एवज में दो लाख रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया था। गर्दनीबाग इलाके से यह गिरफ्तारी की गई थी। इंजीनियर को गिरफ्तार करने के बाद पहली पूछताछ में निगरानी टीम को इंजीनियर के घर में बड़ी रकम होने का अंदेशा हुआ। जिसके बाद इंजीनियर के सभी ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारियां शुरू हुईं।

Subscribe to get breaking news alerts

निजी आवास से बरामद हुए 25 लाख रूपए 
निगरानी टीम को इंजीनियर के घर में तलाशी के दौरान उसके गर्दनीबाग स्थित निजी आवास से करीब 25 लाख रुपये नकद बरामद किए गए। इसी क्रम में इंजीनियर के किराये के एक आवास का पता भी निगरानी टीम को लगा। ताला तोड़ निगरानी की टीम अंदर दाखिल हुई तो एक अलमारी में दो बैग रखे मिले। जिन्हें खोला गया तो बैग में पांच सौ और दो हजार रुपये के नोट रखे गए थे। इतनी बेशुमार दौलत का कोई भी हिसाब फिलहाल इंजीनियर द्वारा नहीं दिया जा सका है।

नोट गिनने के लिए मंगवानी पड़ी मशीन 
करीब पांच से छह घंटे में बैग में भरे नोटों की गिनती हुई। अब तक की गिनती में 1.08 करोड़ रुपये बरामद हो चुके हैं। इसके अलावा इंजीनियर के निजी आवास से तकरीबन 25 लाख की नकदी और 27 लाख रुपये के सोने-चांदी के जेवर भी मिले है। एक लाकर भी मिला जिसे सील कर दिया गया है। इंजीनियर संजीत कुमार को विशेष अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।