Asianet News Hindi

सुशील मोदी ने कहा-लोगों को गुमराह कर रहे राहुल गांधी, दर्ज होना चाहिए मुकदमा

सुशील मोदी ने कहा है कि जब किसानों के मुद्दे पर सरकार से महत्वपूर्ण वार्ता होनी है, वे बगैर कोई कारण बताए इटली चले गए। वे पहले भी संसद का सत्र छोड़कर छुट्टी मनाने विदेश जा चुके हैं।

Sushil Modi said - Rahul is misleading people, case should be filed asa
Author
Bihar, First Published Dec 29, 2020, 11:16 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar)। कांग्रेस पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रपति को कृषि कानूनों के खिलाफ बीते दिनों दो करोड़ हस्ताक्षर सौंपा था। जिसके बाद यूपी से लेकर बिहार तक बीजेपी सवाल खड़ा कर रही है। अब बिहार बीजेपी की ओर से सुशील कुमार मोदी ने इसे लेकर हमला बोला है। उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट कर कांग्रेस की आलोचना की है। साथ ही कहा कि राहुल गांधी ने राफेल विमान खरीद और सीएए की तरह नए कृषि कानून को लेकर भी लोगों को गुमराह किया। फर्जी हस्ताक्षर वाला ज्ञापन राष्ट्रपति को सौंपने के मामले की जांच होनी चाहिए और राहुल गांधी पर मुकदमा किया जाना चाहिए।

यूथ कांग्रेस को भी अभियान की जानकारी नहीं
सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि कांग्रेस ने संसद से पारित तीन कृषि कानूनों की वापसी के लिए 2 करोड़ किसानों के हस्ताक्षर लेने का जो दावा किया है, उसके लिए हस्ताक्षर अभियान कब चलाया गया? उन्होंने कहा है कि बिहार में कांग्रेस कहीं भी हस्ताक्षर अभियान चलाती नहीं दिखी। यूथ कांग्रेस ने भी ऐसे अभियान से इनकार किया है। फर्जी हस्ताक्षर वाला ज्ञापन राष्ट्रपति को सौंपने का गंभीर अपराध किया है। इस मामले की जांच होनी चाहिए और राहुल गांधी पर मुकदमा किया जाना चाहिए।

लोगों को गुमराह कर रहे राहुल गांधी
सुशील मोदी ने कहा कि राहुल गांधी ने राफेल विमान खरीद और नागरिकता कानून की तरह नए कृषि कानून को लेकर भी लोगों को गुमराह किया। उनकी पार्टी की सरकार ने पंजाब के कुछ बड़े किसानों को मंडी और ठेका खेती को लेकर ऐसा उकसाया कि वे महीने भर से दिल्ली में धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि जब किसानों के मुद्दे पर सरकार से महत्वपूर्ण वार्ता होनी है, वे बगैर कोई कारण बताए इटली चले गए। वे पहले भी संसद का सत्र छोड़कर छुट्टी मनाने विदेश जा चुके हैं।

डिप्टी सीएम ने कसा तंज
यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी तंज कसा था कि कांग्रेस के पास इतने लोग ही नहीं हैं तो हस्ताक्षर कैसे हो गए? खैर, यहां से खड़े हुए सवाल का पीछा किया तो कांग्रेस की 'आंतरिक रणनीति' को आंकड़ों ने जाहिर किया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios