मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के मामले में ड्रग एंगल से चल रही जांच में गिरफ्तार धर्मा प्रोडक्शन के प्रोड्यूसर क्षितिज रवि प्रसाद (Kshitij Ravi Prasad) का कहना है कि उन पर करन जौहर को फंसाने का दबाव बनाया था। क्षितिज ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के अफसरों पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें ब्लैकमेल करने की कोशिश की गई। क्षितिज के मुताबिक, मुझसे कहा गया कि करन जौहर के ड्रग्स लेने की बात कह दोगे तो तुम्हे छोड़ दिया जाएगा। रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में हुई पेशी के दौरान क्षितिज के वकील सतीश मानशिंदे ने यह दावा किया।

करण जौहर के धर्मा प्रोडक्शंस के निर्माता क्षितिज प्रसाद गिरफ्तार; NCB ने की  कार्रवाई - Sabkuchgyan

क्षितिज के वकील का कहना है कि 25 सितंबर को NCB ने उनके क्लाइंट के घर छापा मारा। घर की बालकनी में मिले सिगरेट के बट्स को NCB ने गांजा बताया। क्षितिज के विरोध के बावजूद पंचनामा बनाकर सिगरेट के बट्स को गांजा जैसा दिखने की बात लिख दी गई।

Kshitij Prasad arrested hours after Karan Johar disassociates himself from  former Dharmatic executive producer

क्षितिज के वकील के मुताबिक मेरे क्लाइंट को NCB के ऑफिस लाकर अधिकारी समीर वानखेड़े और उनकी टीम ने सवाल-जवाब किए। बयान रिकॉर्ड करते समय कई झूठी बातें जोड़ी गईं। क्षितिज को रातभर हिरासत में रखा, अगले दिन बयान लेते समय कहा कि अगर करन जौहर, सोमेल मिश्रा, राखी, अपूर्वा, नीरज या राहिल के ड्रग्स लेने की बात कह दो तो तुम्हें छोड़ देंगे। क्षितिज ने ऐसा कहने से मना कर दिया। इसके बाद समीर वानखेड़े ने क्षितिज को जमीन पर बैठा दिया और उनके मुंह के पास जूता ले जाकर कहा कि यही तुम्हारी औकात है।

kshitij prasad 9 days NCB custody Drugs Case: क्षितिज की कोर्ट में पेशी,  एनसीबी ने मांगी 9 दिन की रिमांड - kshitij prasad in 9 days NCB custody

बॉलीवुड के ड्रग्स मामले में NCB ने क्षितिज को शनिवार को गिरफ्तार किया था। रविवार को उन्हें एडिशनल चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने उन्हें 3 अक्टूबर तक रिमांड पर दे दिया। ड्रग्स केस में क्षितिज के साथ नाम जुड़ने की रिपोर्ट्स पर करन जौहर ने कहा था कि उनकी कंपनी के साथ क्षितिज ने पिछले साल कॉन्ट्रैक्ट पर काम किया था, लेकिन पर्सनली नहीं जानते और किसी की पर्सनल लाइफ के लिए जिम्मेदार नहीं हैं।