Asianet News HindiAsianet News Hindi

शूटिंग सेट पर ही बेहोश हो गई 'सोनू के टीटू की स्वीटी' की एक्ट्रेस, आनन-फानन में ले जाना पड़ा अस्पताल

फिल्म 'सोनू के टीटू की स्वीटी' (Sonu ke titu ki sweety) की एक्ट्रेस नुसरत भरूचा (Nusrat Bharuccha) शूटिंग के दौरान सेट पर ही बेहोश हो गईं। इस वाकये के फौरन बाद सेट पर मौजूद लोग उन्हें आनन-फानन में अस्पताल लेकर भागे। 

Nushrratt Bharuccha faints on sets, rushed to hospital in emergency
Author
Mumbai, First Published Aug 7, 2021, 7:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। फिल्म 'सोनू के टीटू की स्वीटी' (Sonu ke titu ki sweety) की एक्ट्रेस नुसरत भरूचा (Nusrat Bharuccha) शूटिंग के दौरान सेट पर ही बेहोश हो गईं। इस वाकये के फौरन बाद सेट पर मौजूद लोग उन्हें आनन-फानन में अस्पताल लेकर भागे। वहां डॉक्टर्स ने नुसरत भरूचा की जांच कर बताया कि उनका ब्लड प्रेशर कम हो गया है, जिसके चलते वो बेहोश हो गई हैं। हालांकि, डॉक्टर्स ने अब नुसरत को 15 दिनों के लिए फिल्म की शूटिंग से ब्रेक लेकर आराम करने की सलाह दी है। 

 

बता दें कि नुसरत भरूचा फिलहाल डायरेक्टर लव रंजन की फिल्म में काम कर रही हैं। पिछले कुछ दिनों से वो मुंबई के एक स्टूडियो में लगातार शूटिंग कर रही थीं। नुसरत भरूचा ने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा कि मुझे लगा था कि एक-दो दिन में मैं ठीक हो जाऊंगी, लेकिन अगले ही दिन मेरी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। इसके बाद मुझे हिंदुजा अस्पताल ले जाया गया। वहां चेकअप के बाद मेरा ब्लड प्रेशर 65/55 हो गया था। 

 

नुसरत के मुताबिक, इस घटना के बाद डॉक्टरों ने मुझे घर पर आराम करने की सलाह दी है। मेरे चेकअप हो चुके हैं और अब मैं पूरी तरह से ठीक महसूस कर रही हूं। नुसरत भरूचा ने बताया है कि उन्हें वर्टिगो की शिकायत है। इसी के चलते वो बेहोश हुई थीं। 

क्या है वर्टिगो : 
वर्टिगो एक ऐसी बीमारी है जिसमें लोगों को चक्कर आते हैं और शरीर सुस्त पड़ जाता है। वर्टिगो से जूझ रहे लोगों को अचानक ही चक्कर आने या जी मिचलाने की शिकायत होती है। इसके अलावा उल्टी आना, आंखों की असामान्य हरकतें, सिरदर्द और लगातार पसीने आते रहने जैसी समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। इसके अलावा वर्टिगो में लोगों के हाथ और पैर सुस्त पड़ जाते हैं, साथ ही कई बार उन्हें कानों में सनसनाहट भी महसूस होती है। वेस्टिबुलर न्यूरोनिटिस के डिसॉर्डर से होने वाली इस बीमारी से भारत में कई लोग जूझ रहे हैं। अगर इस बीमारी की पहचान समय पर हो जाए तो इस बीमारी का इलाज संभव है। वर्टिगो होने का एक कारण हमारे आंतरिक कान का ठीक तरह से काम नहीं कर पाना भी होता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios