Asianet News HindiAsianet News Hindi

फोन खरीदने गईं रतन राजपूत को याद आया अपने साथ हुआ हादसा, बोलीं- 'मुझे मारकर किसी गटर में फेंक दिया जाता'

दो साल से परदे से गायब एक्ट्रेस रतन राजपूत एक बार फिर से चर्चा में हैं। उन्होंने अपने लेटेस्ट यूट्यूब व्लॉग में कई सालों पहले राजधानी दिल्ली में अपने साथ हुए एक हादसे के बारे में बताया। पढ़िए रतन ने क्या कहा...

Ratan Raajputh shares an old incident happened with her on her youtube vlog AKA
Author
Mumbai, First Published Aug 10, 2022, 4:34 PM IST

एंटरटेनमेंट डेस्क. 'संतोषी मां' और 'विघ्नहर्ता गणेश' जैसे टीवी शोज में नजर आईं एक्ट्रेस रतन राजपूत (Ratan Raajputh) भले ही काफी वक्त से परदे पर नजर नहीं आईं पर वे अक्सर चर्चा में बनी रहती हैं। वे इन दिनों यूट्यूब पर अपने ब्लॉग्स शेयर कर रही हैं। इन वीडियोज में वे अपने रोजाना के जीवन में हुए एक्सपीरियंसेज पर बात करती हैं। हाल ही में एक नया फोन खरीदने पहुंची रतन को अपने साथ हुए एक हादसे की याद आ गई जिसे उन्होंने अपने व्लॉग में शेयर किया। आप भी जानिए उस घटना के बारे में जिसे जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

अपनी कमाई से खरीदा था 4,500 रुपए का फोन
उस हादसे को याद करते हुए रतन ने बताया कि वे अपने परिवार की पहली शख्स थीं जिसने मोबाइल खरीदा था। उन्होंने बताया कि उस वक्त वे दिल्ली में नौकरी करती और कमाती थीं और अपनी कमाई से उन्होंने साढ़े 4 हजार का फोन खरीदा था। रतन उस वक्त दिल्ली के खिड़की में रहती थीं और वहां से मंडी हाउस तक ड्रामा क्लासेज लेने जाती थीं। एक दिन जब वे अपनी क्लास से वापस लौट रही थीं तो उन्हें महसूस हुआ कोई कि कोई उनके हाथ से उनका फोन छीनने की कोशिश कर रहा है। उस वक्त वे अपनी मां से फोन पर बात कर रही थीं। रतन ने बताया, 'उस लड़के ने मुझसे मेरा फोन छीन लिया। मैं वहां मौजूद लोगों से चिल्ला-चिल्ला कर मेरी हेल्प करने के लिए कह रही थी पर वहां मौजूद सभी लोग बस सब देख रहे थे।'

जंगल की तरफ खींचकर ले जाने लगा शख्स
अपना फोन वापस पाने के लिए एक्ट्रेस ने काफी दूर तक उस शख्स पीछा किया। रतन ने कहा, 'उस समय करीबन रात के साढ़े आठ बज रहे होंगे। तभी वहां एक लड़का पहुंचा। मैंने उससे मदद की गुहार लगाई तो उसने मेरा हाथ जोर से पकड़ लिया और मुझे जगंल की तरफ खींचने लगा। इस दौरान वह कह रहा था 'आ तुझे तेरा फोन दिलाता हूं। मुझे लगा कि आज तो मैं गई। पता नहीं अब बचूंगी या नहीं।'

फिर दो लड़कों  ने की मदद
रतन ने आगे बताया, 'मैं लगातार चिल्ला रही थी पर लोग सिर्फ देख रहे थे। कोई मदद के लिए आगे नहीं आया। तभी दो लड़के जो स्कूटर पर जा रहे थे। उनमें से एक मेरी मदद के लिए आया और उसने मुझे बचाया। वो दोनों लड़के स्टूडेंट्स थे और उन्होंने मुझे मेरे घर तक पहुंचाया।' 

मैं किसी गटर में फेंक दी गई होती
इस घटना के बाद रतन के मन में डर बैठ गया था। वे सोचने लगी थीं कि वे लड़की हैं और उन्हें संभलकर रहना होगा। वीडियो में रतन ने कहा, 'अब मैं समझ सकती हूं कि जिसके साथ ऐसी घटना होती है वो किस फेज में होते हैं। उस दिन मेरे दिमाग में बस यही चल रहा था कि कहीं आज मैं न्यूज न बन जाऊं। मेरे साथ वहीं हो सकता था, जो मैं न्यूज में देखती हूं। मैं किसी गटर में फेंक दी गई होती, या मुझे मार दिया गया होता।'

और पढ़ें...

'लाल सिंह चड्ढा' की टीम के साथ नेशनल वॉर मेमोरियल पहुंचे आमिर, ट्रोलर्स बोल- कुछ भी करलें, बायकॉट नहीं रुकेगा

EXCLUSIVE: प्रत्युषा बनर्जी की न्यूज देखकर मैं सड़क पर बैठ गई...काम्या पंजाबी ने बताई दोस्त की अनसुनी बातें

Brief Round up: जानिए क्यों हॉस्पिटल से कूदने वाले थे विकी कौशल के पिता, वैम्पायर के रोल में नजर आएगा ये एक्टर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios