Asianet News Hindi

अब आयुष्मान भारत योजना के तहत करा सकेंगे कैशलेस इलाज, ESIC से जुड़े 1.35 करोड़ लोगों को मिलेगा फायदा

केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार (Santosh Gangwar) ने कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) की हेल्थ स्कीम और आयुष्मान भारत योजना के कन्वर्जेंस को लॉन्च करते हुए कहा कि अब 113 जिलों के 1.35 करोड़ लाभार्थी कैशलेस इलाज करा सकेंगे। 

1.35 cr beneficiaries to be covered under ESI scheme convergence with Ayushman Bharat PM-JAY MJA
Author
New Delhi, First Published Mar 11, 2021, 11:24 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार (Santosh Gangwar) ने कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) की हेल्थ स्कीम और आयुष्मान भारत योजना के कन्वर्जेंस को लॉन्च करते हुए कहा कि अब 113 जिलों के 1.35 करोड़ लाभार्थी कैशलेस इलाज करा सकेंगे। उन्होंने यह घोषणा बुधवार को की। अब ईएसआई योजना और आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के बीच बेहतर तालमेल संभव हो सकेगा। इस स्कीम के तहत कर्मचारी राज्य बीमा निगम के दायरे में आने वाले कर्मचारी आयुष्मान भारत योजना के पैनल में शामिल अस्पतालों में कैशलेस इलाज करा सकेंगे। ईएसआईसी ने भी एक बयान जारी करके इसके बारे में जानकारी दी है। 

क्या कहा गया बयान में
बयान में कहा गया है कि इससे कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) के दायरे में आने वाले 1.35 करोड़ कर्मचारियों और उन पर आश्रित परिवार के लोगों को आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) के पैनल में आने वाले अस्पतालों में कैशलेस चिकित्सा सुविधा का लाभ लेने में मदद मिलेगी।

इन राज्यों में लोगों को मिलेगा फायदा
इस तालमेल से पीएम-जेएवाई के लाभार्थी ईएसआईसी के क्षमता से कम उपयोग हो रहे बिहार, गुजरात, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में स्थित 15 अस्पतालों और चिकित्सा कॉलेजों में कैशलेस इलाज करा सकेंगे। बयान के मुताबिक, ईएसआई योजना और आयुष्मान भारत पीएम जेएवाई के बीच बेहतर तालमेल के लिए पहल की शुरुआत केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने 10 मार्च, 2021 को की।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios