Asianet News Hindi

अरबों डॉलर की कंपनी बिक गई सिर्फ 73 रुपए में, जानें कैसे डूबा इस बिजनेस टायकून का कारोबार

जाने-माने बिजनेसमैन बी. आर. शेट्टी (B. R. Shetty) की फाइनेंशियल सर्विसेस होल्डिंग कंपनी फिनाब्लर लिमिटेड (Finablr Ltd) सिर्फ 73 रुपए में बिक गई। यह कंपनी लंदन स्टॉक एक्सचेंज (London Stock Exchange) में लिस्टेड थी।

A billion dollar company sold for only rs 73, know how drowned the business of Finablr Ltd MJA
Author
UAE, First Published Dec 20, 2020, 8:27 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। जाने-माने बिजनेसमैन बी. आर. शेट्टी (B. R. Shetty) की फाइनेंशियल सर्विसेस होल्डिंग कंपनी फिनाब्लर लिमिटेड (Finablr Ltd) सिर्फ 73 रुपए में बिक गई। यह कंपनी लंदन स्टॉक एक्सचेंज (London Stock Exchange) में लिस्टेड थी। बता दें कि भारतीय मूल के बिजनेसमैन बी. आर शेट्टी ने 70 के दशक में यूएई (UAE) में हेल्थ केयर इंडस्ट्री शुरू कर बड़ी सफलता हासिल की थी। उन्होंने 1970 में एनएमजी हेल्थ (NMG Health) की शुरुआत की थी। शेट्टी ने कई क्षेत्र में अपना बिजनेस एम्पायर खड़ा किया था। अब शेट्टी की कंपनी फिनाब्लर लिमिटेड को ग्लोबल फिनटेक इन्वेस्टमेंट्स होल्डिंग (GFIH) खरीदने जा रही है। यह इजरायल के प्रिज्म ग्रुप (Prism group) की सहयोगी कंपनी है।

कंसोर्टियम का हुआ गठन
बी. आर. शेट्‌टी की कंपनी फिनाब्लर लिमिटेड (Finablr Ltd) ने इजराइल के प्रिज्म ग्रुप (Prism group) की सहयोगी कंपनी ग्लोबल फिनटेक इन्वेस्टमेंट्स होल्डिंग (GFIH) के साथ समझौता किया है। यह फिनाब्लर लिमिटेड की सारी संपत्ति खरीदेगी। इस समझौते को कराने के लिए प्रिज्म ग्रुप ने अबू धाबी के रॉयल स्ट्रैटेजिक पार्टनर्स के साथ एक कंसोर्टियम का गठन किया है।

शेट्‌टी पर है फर्जीवाड़े का आरोप
शेट्‌टी पर बिजनेस में फर्जीवाड़े का आरोप है। फिनाब्लर के अलावा शेट्‌टी की अबू धाबी में एक दूसरी कंपनी एनएमजी हेल्थ भी है। इसके शेयरों में 70 फीसदी की गिरावट देखी गई है।शेट्‌टी पर फर्जीवाड़े के आरोप की वजह से पिछले साल अबू धाबी के स्टॉक एक्सचेंज ने उसकी कंपनियों के कारोबार पर रोक लगा दी थी। इस वजह से शेट्‌टी की कंपनियों की साख बाजार में पूरी तरह से खत्म हो गई और कोई भी उनमें निवेश करने के लिए तैयार नहीं हुआ। फिनाब्लर द्वारा साझा की गई रिपोर्ट के मुताबिक, उस पर 1 बिलियन डॉलर से ज्यादा का कर्ज है। बता दें कि पिछले साल दिसंबर में कंपनी की मार्केट वैल्यू 2 बिलियन डॉलर थी। अब इस समझौते को संयुक्त अरब अमीरात और इजरायल के बीच नए दोस्ताना रिश्तों के तौर पर भी देखा जा रहा है। बता दें कि इससे पहले दोनों देशों के बीच कोई भी व्यावसायिक संबंध नहीं थे, लेकिन पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की मध्यस्थता के बाद दोनों देशों ने इस साल व्यावसायिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए समझौता किया था।

शेट्‌टी ने ऐसे खड़ा किया था अपना साम्राज्य
शेट्टी ने यूएई के हेल्थ केयर इंडस्ट्री में अपना दबदबा बनाया था। शेट्‌टी 70 के दशक में महज 8 डॉलर लेकर यूएई पहुंचे थे, जहां उन्होंने एनएमजी हेल्थ की शुरुआत की। 2012 में यह कंपनी लंदन स्टॉक एक्सचेंज में भी लिस्ट हुई। वहीं, शेट्‌टी ने 1980 में यूएई के सबसे पुराने रेमिटेंस बिजनेस यूएई एक्सचेंज की शुरुआत की। इसके अलावा शेट्‌टी ने फूड एंड बेवरेज, फार्मास्यूटिकल मैन्युफैक्चरिंग तथा रियल एस्टेट में भी हाथ आजमाया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios