मुंबई। फेसबुक और सिल्वर लेक के बाद अब एक तीसरी कंपनी ने भी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के जियो प्लेटफॉर्म्स में बड़ा निवेश किया है। विस्टा इक्विटी पार्टनर्स ने 11367 करोड़ के बड़े निवेश की घोषणा की है। विस्टा को जियो में 2.3 प्रतिशत हिस्सेदारी मिलेगी। फेसबुक के बाद यह जियो में सबसे बड़ा निवेश है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने डील का स्वागत किया है। 

जानकारी के मुताबिक बतौर टेक्नोलॉजी पार्टनर विस्टा ने जियो में निवेश किया है। यह निवेश फेसबुक डील के 12.5 फीसदी प्रीमियम पर हुआ है। विस्टा इक्विटी पार्टनर्स अमेरिका का निवेश फंड है। इस डील के बाद जियो की इक्विटी वैल्यू 4.91 लाख करोड़, इंटरप्राइजेज वैल्यू 5.16 लाख करोड़ रुपये तय हुई है। 

फेसबुक के बाद यह जियो में दूसरा बड़ा निवेश है। आरआईएल के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने डील का स्वागत किया है। जियो में अब तीन हिस्सेदार हैं। फेसबुक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, और अमेरिका की प्राइवेट इक्विटी कंपनी सिल्वरलेक पार्टनर्स। 

जियो में किसका कितना हिस्सा? 

#फेसबुक:- 9.9 फीसदी हिस्सेदारी 
#विस्टा:- 2.3 फीसदी हिस्सेदारी 
#सिल्वर लेक:- 1.1 फीसदी हिस्सेदारी 

तीनों डील से क्या बदला?
अब जियो प्लेटफॉर्म की इंटरप्राइजेज वैल्यू 5.16 लाख करोड़ रुपये होगी। वैल्यू के लिहाज से शेयर मार्केट में लिस्टेड कंपनियों में सिर्फ सो कंपनियां ही जियो से आगे हैं। एक जियो की पैरेंट कंपनी यानी रिलायंस इंडस्ट्रीज है। उसके बाद टाटा ग्रुप की टीसीएस। एचडीएफ़सी, हिंदुस्तान यूनीलिवर और एयरटेल जैसी कंपनियां जियो से पीछे हो गई हैं।