Asianet News Hindi

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद बाजार में रौनक, हरे निशान पर सेंसेक्स-निफ्टी

भारत में बढ़ते कोरोना संकट के बीच आज भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने कई ऐलान किए। इस वजह से भारतीय शेयर बाजार ने जबरदस्त छलांग लगाई है शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 515 अंक मजबूत होकर 31 हजार अंक के पार कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी करीब 148 अंक की मजबूती के साथ 9,141 अंक तक पहुंच गया

After RBI press confrence Sensex and nifty rose up Share market live updates of 17th March kpm
Author
New Delhi, First Published Apr 17, 2020, 11:18 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क: भारत में बढ़ते कोरोना संकट के बीच आज भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने कई ऐलान किए। इस वजह से भारतीय शेयर बाजार ने जबरदस्त छलांग लगाई है। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 515 अंक मजबूत होकर 31 हजार अंक के पार कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी करीब 148 अंक की मजबूती के साथ 9,141 अंक तक पहुंच गया।

क्या है वजह

दरअसल, आरबीआई गवर्नर की प्रेस कॉन्फ्रेंस में कुछ बड़े ऐलान किए गए हैं। लॉकडाउन में ये दूसरी बार है जब शक्तिकांत दास मीडिया से बात कर रहे हैं। इसके पहले रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने 27 मार्च को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। जिसमें उन्होंने रेपो रेट में 0.75 फीसदी की भारी कटौती का ऐलान किया था।

क्या कहा RBI गवर्नर शक्तिकांत दास 

आरबीआई कोरोना वायरस को लेकर सतर्क है। रिजर्व बैंक इसकी करीब से निगरानी कर रहा है। 2020 वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए सबसे बड़ी मंदी का साल है। गवर्नर ने बाताया कि रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया गया है। यह 4.4 फीसदी पर स्थिर है।  हालांकि, रिवर्स रेपो रेट 0.25 फीसदी से घटाकर 3.75 फीसदी कर दी गई।

इसके अलावा टीएलटीआरओ के जरिए आरबीआई सिस्टम में 50,000 करोड़ रुपये डालेगा। आरबीआई ने नाबार्ड को 25 हजार करोड़ रुपये, SIDBI को 25 हजार करोड़ रुपये और नेशनल हाउसिंग बैंक (एनएचबी) को 10 हजार करोड़ देने का एलान किया है। दास ने भरोसा दिलाया की देश के पास विदेशी मुद्रा का पर्याप्त भंडार है। हालांकि, मार्च में देश के निर्यात के हालात बेहद खराब रहे हैं। फॉरेक्स रिजर्व अभी 476.5 अरब है। लेकिन G-20 देशों में भारत की स्थिति बेहतर रहेगी। 

इस हफ्ते बाजार का हाल

इस हफ्ते शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव रहा। गुरुवार को सेंसेक्स 222.80 अंक या 0.73 फीसदी की बढ़त के साथ 30,602.61 अंक पर रहा। वहीं निफ्टी 67.50 अंक या 0.76 फीसदी की तेजी के साथ 8,992.80 अंक पर बंद हुआ। वहीं, बुधवार को सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान 1,346 अंक के दायरे में ऊपर-नीचे होने के बाद अंत में 310 अंक या 1.01 प्रतिशत के नुकसान से 30,379 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह, निफ्टी 68.55 अंक या 0.76 प्रतिशत के नुकसान से 8,925.30 अंक पर बंद हुआ।

आईएमएफ ने घटाई देश की आर्थिक वृद्धि दर 

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के अनुसार, देश की आर्थिक वृद्धि दर 1.9 फीसदी रहने का अनुमान है। आरबीआई गवर्नर ने कहा देश में बैंकिंग कारोबार सामान्य बनाए रखने की कोशिश जारी है। वित्तीय संस्थानों ने विशेष तैयारी की है। देश में 91 फीसदी एटीएम काम कर रहे हैं। भारत की आर्थिक वृद्धि दर 1.9 फीसदी रहने की उम्मीद है। 

(फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios