Asianet News Hindi

अपने बर्थडे पर अध्यक्ष पद छोड़ देंगे अलीबाबा के फाउंडर जैक मा, इतने बड़े फैसले के पीछे बताई ये वजह

चीन के सबसे अमीर शख्स और अलीबाबा ग्रुप के फाउंडर जैक मा 10 सितंबर को कंपनी बोर्ड के अध्यक्ष पद को अलविदा कह देंगे। कंपनी से अलग होने का फैसला जैक मा ने अपने जन्मदिन (10 सितंबर) पर ही लिया है। 

Alibaba founder Jack Ma will leave the post of president on his birthday, the reason behind such a big decision
Author
New Delhi, First Published Sep 9, 2019, 10:02 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. चीन के सबसे अमीर शख्स और अलीबाबा ग्रुप के फाउंडर जैक मा 10 सितंबर को कंपनी बोर्ड के अध्यक्ष पद को अलविदा कह देंगे। कंपनी से अलग होने का फैसला जैक मा ने अपने जन्मदिन (10 सितंबर) पर ही लिया है। 

एक सा पहले दिए थे संकेत
एक साल पहले ही ऑनलाइन दुनिया के दिग्गज कारोबारी ने ने अधयक्ष पद से हटने का संकेत दे दिया था। उन्होंने कहा था कि वो अपने 55वें जन्मदिन पर 10 सितंबर 2019 को कंपनी का अध्यक्ष पद छोड़ देंगे। उनके बाद अलीबाबा के CEO डेनियल झेंग इस पद की जिम्मेदारी संभालेंगे।

चीन के सबसे अमीर व्यक्ति हैं जैक मा
फॉर्ब्स की तरफ से जारी 2018 की लिस्ट में जैक मा चीन के सबसे अमीर व्यक्ति हैं। फॉर्ब्स के अनुसार उनकी दौलत 34.6 बिलियन डॉलर थी। इससे पहले 2014 में भी जैक मा चीन के सबसे अमीर लोगों में शुमार थे। लेकिन 2017 में जैक तीसरे नंबर पर आ गए थे। उन्होंने अपनी पोजिशन पर वापस 2018 में कब्जा कर नंबर 1 पर पर आ गए। ई-कॉमर्स की नामी कंपनी अलीबाबा में जैक मा के लगभग 9 प्रतिशत शेयर हैं।

30 नौकरियों के लिए किए गए थे रिजेक्ट 
आज से दो दशक पहले कुछ दोस्तों के साथ मिलकर अलीबाबा की नींव रखने वाले जैक मा चीन में एक गरीब परिवार में जन्में थे। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक अंग्रेजी टीचर के रूप में की थी। उनका शुरुआती करियर बेहद संघर्ष से भरा था। उन्हें लगभग 30 नौकरियों के लिए रिजेक्ट किया गया था।

जैक मा को नहीं आती थी कंप्यूटिंग
अलीबाबा के फाउंडर जैक मा को उस समय कंप्यूटिंग की खास जानकारी नहीं थी, लेकिन मजबूत इच्छाशक्ति के कारण वो आगे बढ़ाते गए और सफलता ने उनके कदम चूम लिए। साल 2014 में अलीबाबा ने दुनिया की सबसे बड़ी सार्वजनिक हिस्सेदारी के जरिए 25 अरब डॉलर जुटाए थे।

ग्रामीण इलाकों में शिक्षा का प्रचार-प्रसार करेंगे
आज से 10 साल पहले अपने उत्ताधिकारी की तलाश शुरू करने वाले जैक ने साल 2013 में बोर्ड अध्यक्ष बनने के लिए मुख्य कार्यकारी अधिकारी की कुर्सी छोड़ दी थी। अलीबाबा के चेयरमैन पद से हटने के बाद वे शिक्षा के क्षेत्र में काम करेंगे। इसके लिए जैक मा फाउंडेशन के जरिए चीन के ग्रामीण इलाकों में शिक्षा के प्रचार-प्रसार को और बढ़ाने का फैसला किया है।

ट्रंप भी कर चुके हैं जैक की तारीफ
ब्लैक फ्राइडे और साइबर मंडे जैसे शॉपिंग इवेंट के माध्यम से अमेरिका में अपनी धाक जमाने वाले जैक की तारीफ अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी कर चुके हैं। जैक मा का पद से हटने का पैसला उस समय आया है जब जब चीन और अमेरिका के बीच ट्रेड वॉर चरम पर है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios