Asianet News Hindi

ऑनलाइन फ्रॉड पर सरकार कसने जा रही है लगाम, बनाने जा रही है डिजिटल इंटेलिजेंस यूनिट

देश में ऑनलाइन फ्रॉड के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। मोबाइल फोन पर लिंक भेज कर या ई-मेल के जरिए लोगों के बैंक अकाउंट से लाखों रुपए हड़प लिए जाते हैं। हाल के दिनों में बैंकिंग फ्रॉड के मामले काफी बढ़े हैं। अब सरकार इन पर शिकंजा कसने के लिए डिजिटल इंटेलिजेंस यूनिट (Digital Intelligence Unit) बनाने जा रही है।

Government will set up digital intelligence unit to control financial frauds MJA
Author
New Delhi, First Published Feb 16, 2021, 2:01 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। देश में ऑनलाइन फ्रॉड के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। मोबाइल फोन पर लिंक भेज कर या ई-मेल के जरिए लोगों के बैंक अकाउंट से लाखों रुपए हड़प लिए जाते हैं। हाल के दिनों में बैंकिंग फ्रॉड के मामले काफी बढ़े हैं। अब सरकार इन पर शिकंजा कसने के लिए डिजिटल इंटेलिजेंस यूनिट (Digital Intelligence Unit) बनाने जा रही है। बता दें कि सोमवार को टेलिकॉम मिनिस्टर रवि शंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह फैसला लया गया है। सरकार जल्द ही टेलिकॉम कंपनियों के साथ इसे लेकर बैठक करेगी।

बनाए जाएंगे पोर्टल
जानकारी के मुताबिक, फ्रॉड पर रोक लगाने और कन्ज्यूमर के हितों की सुरक्षा के लिए पोर्टल बनाया जाएगा। इसके जरिए यूजर्स टेलिकॉम कंपनियों को अनचाहे कमर्शियल कॉल, एसएमएस, ई-मेल और फाइनेंशियल फ्रॉड की शिकयात कर सकेंगे। बता दें कि अनचाहे कॉल, एसएमएस और ई-मेल भेजने वाली कंपनियों पर जुर्माना लगाने का प्रवाधान भी किया जा रहा है। यूनिट निर्धारित समय में वित्तीय धोखाधड़ी के मामलों को निपटाएगी। इस बैठक में डिजिटल ट्रांजैक्शन को सुरक्षित बनाने पर सबसे ज्यादा जोर दिया गया। 

की जाएगी कड़ी कार्रवाई
बैठक में तय किया कि ऑनलाइन फ्रॉड करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा और उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि वित्तीय धोखाधड़ी के लिए दूरसंचार साधनों का इस्तेमाल तेजी से बढ़ा है। इनके जरिए आम आदमी की गाढ़ी कमाई को हड़पा जा रहा है। उन्होंने निर्देश दिया कि ऐसे गलत कामों को रोकने के लिए कठोर कार्रवाई की जाए।

डु नॉट डिस्टर्ब के बाद भी आ रहे कॉल
टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) की कोशिशों के बावजूद अनचाही कॉल्स नहीं रुक पा रही है। अधिकारियों के साथ हुई बैठक में कमर्शियल कॉल की संख्या बढ़ने की बात कही गई। अधिकारियों का कहना है कि कस्टमर्स द्वारा डु नॉट डिस्टर्ब (DND) का रजिस्ट्रेशन करा दिए जाने के बावजूद भी उसी नंबर से लगातार कमर्शियल कॉल और एसएमएस आते रहते हैं।


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios