Asianet News Hindi

दिसंबर 2020 में सबसे ज्यादा रहा GST कलेक्शन, 1.15 लाख करोड़ रुपए टैक्स हुआ जमा

दिसंबर 2020 में जीएसटी कलेक्शन (GST Collection) सबसे ज्यादा 1.15 लाख करोड़ रुपए रहा। वित्त मंत्रालय का कहना है कि जीएसटी व्यवस्था लागू होने के बाद अब तक का यह सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन है।

GST collection in December 2020 highest in December 2020 says finance ministry MJA
Author
New Delhi, First Published Jan 2, 2021, 8:41 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। दिसंबर 2020 में जीएसटी कलेक्शन (GST Collection) सबसे ज्यादा 1.15 लाख करोड़ रुपए रहा। वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) का कहना है कि जीएसटी व्यवस्था लागू होने के बाद अब तक का यह सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन है। वित्त मंत्रालय ने इसके बारे में जानकारी देते हुए बताया कि दिसंबर 2019 की तुलना में यह जीएसटी कलेक्शन करीब 12 फीसदी ज्यादा है। वित्त मंत्रालय के मुताबिक, पिछले कुछ महीनों में जीएसटी कलेक्शन के आंकड़ों में लगातार बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। इसके पहले नवंबर 2020 में कुल जीएसटी कलेक्शन 1,04,963 करोड़ रुपए रहा था।

क्या कहा वित्त मंत्रालय ने बयान में
वित्त मंत्रालय ने बयान जारी करके कहा कि जीएसटी व्यवस्था लागू किए जाने के बाद दिसंबर 2020 में जीएसटी कलेक्शन सबसे ज्यादा रहा है। पहली बार जीएसटी कलेक्शन का आकंड़ा 1.15 लाख रुपए के पार पहुंचा है। इसके पहले सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन अप्रैल 2019 में 1,13,866 करोड़ रुपए रहा था। आमतौर पर अप्रैल महीने में जीएसटी रेवेन्यू ज्यादा आता है, क्योंकि मार्च वित्तीय वर्ष का आखिरी महीना रहता है।

जीएसटी चोरी के खिलाफ चली मुहिम
वित्त मंत्रालय ने कहा कि जीएसटी कलेक्शन में यह बढ़ोत्तरी कोविड-19 महामारी के बाद आर्थिक व्यवस्था में आ रहे सुधार का परिणाम है। इसके साथ ही जीएसटी चोरी रोकने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर अभियान चलाया गया है। जीएसटी में  फर्जी बिल का इस्तेमाल रोकने के लिए कई उपाय किए गए हैं। इन्हीं वजहों से जीएसटी कलेक्शन में सुधार आया है।

कुल कितने भरे गए रिटर्न
वित्त मंत्रालय ने बताया कि 1,15,174 करोड़ रुपए के कुल जीएसटी कलेक्शन में से 21,365 करोड़ रुपए सीजीएसटी (CGST), 27,804 करोड़ रुपए एसजीएसटी (SGST), 57,426 करोड़ रुपए आईजीएसटी (IGST) से आए। आईजीएसटी में 27,050 करोड़ रुपए इम्पोर्ट से हासिल हुए हैं, जबकि, 8,579 करोड़ रुपए सेस से आए हैं। नवंबर से लेकर 31 दिसंबर 2020 के बीच कुल 87 लाख GSTR-3B रिटर्न्स भरे गए हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios