Asianet News HindiAsianet News Hindi

वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए टैक्स कलेक्शन में भारी वृद्धि, सरकार ने 75,111 करोड़ रुपए किए रिफंड

वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए प्रत्यक्ष कर संग्रह के आंकड़ों के मुताबिक  5,70,568 करोड़ रुपये जमा हुए हैं।  पिछले वित्तीय वर्ष यानी वित्त वर्ष 2020-21 की इसी अवधि में 3,27,174 करोड़ जमा हुए थे। यानि इसमें  74.4% की वृद्धि दर्ज की गई  है। वहीं वित्त वर्ष 2021-22 में नेट कलेक्शन (22.09.2021 तक) ने फाइनेंसल ईयर 2019-20 की तुलना में 27% की वृद्धि दर्ज की है, जबकि नेट कलेक्शन 4,48,976 करोड़ रुपए हुआ है।

Huge increase in tax collection for the financial year 2021-22, Government refunds Rs 75,111 crore
Author
Bhopal, First Published Sep 24, 2021, 5:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। सरकार को कर संग्रह के मामले में अच्छी सफलता मिल रही है। वित्त मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2021-22 के लिए शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह में 47% से अधिक की वृद्धि दर्ज की गई  है। 

डायरेक्ट टैकेस कलेक्शन  में 47% की वृद्धि

वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए प्रत्यक्ष कर संग्रह के आंकड़ों के मुताबिक  टैक्स कलेक्शन के रुप में  5,70,568 करोड़ रुपये जमा हुए हैं।  पिछले वित्तीय वर्ष यानी वित्त वर्ष 2020-21 की इसी अवधि में 3,27,174 करोड़ जमा हुए थे। यानि इसमें  74.4% की वृद्धि दर्ज की गई  है। वहीं वित्त वर्ष 2021-22 में नेट कलेक्शन (22.09.2021 तक) ने वित्तीय वर्ष  2019-20 की तुलना में 27% की वृद्धि दर्ज की है, जबकि नेट कलेक्शन 4,48,976 करोड़ रुपए हुआ था।

5,70,568 करोड़ रुपए का हुए कलेक्शन 
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021-22 में अब तक नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन (Net Direct Tax collections) 5,70,568 करोड़ (22.09.2021 तक) हुआ है। इसमें निगम कर (सीआईटी) रु. 3,02,975 करोड़ (वापसी का शुद्ध) और व्यक्तिगत आयकर (पीआईटी) सुरक्षा लेनदेन कर (एसटीटी) सहित रु  2,67,593 करोड़ (धनवापसी का शुद्ध) शामिल है। 

कुल कलेक्शन 6,45,679 करोड़ रुपये हुआ

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन (रिफंड के समायोजन से पहले) रु. 6,45,679 करोड़ रुपये रहा है।  पिछले वित्तीय वर्ष की इसी अवधि में 4,39,242 करोड़, वित्त वर्ष 2020-21 के संग्रह में 47% की वृद्धि दर्ज की गई है।  वित्त वर्ष 2021-22 में सकल संग्रह (22.09.2021 तक) ने वित्त वर्ष 2019-20 की तुलना में 16.75% की वृद्धि दर्ज की है जबकि ये कलेक्शन 5,53,063 करोड़ रहा।

दूसरी तिमाही में 51.50% की हुई वृद्धि
वित्तीय वर्ष 2021-22 के  शुरुआती महीने बेहद चुनौतीपूर्ण रहे बावजूद इसके  वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही (1 जुलाई, 2021 से 22 सितंबर, 2021) में अग्रिम टैक्स कलेक्शन 1,72,071 करोड़ रु का रहा जो कि वित्त वर्ष 2020-21 में हुए 1,13,571 करोड़ का इसी अवधि की तुलना में 51.50% की वृद्धि को दर्शाता है ।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios