Asianet News Hindi

पर्यावरण बचाने की मुहिम: बोतल की जगह अब पेपर बॉक्स में मिलेगा पानी, कॉर्पोरेट नौकरी छोड़ 2 युवाओं ने की पहल

हैदराबाद स्थित एक स्टार्ट-अप ने प्लास्टिक की पानी की बोतलों के बजाय इको फ्रेंडली पानी के बॉक्स पेश किए है। हैदराबाद और उसके आसपास के कुछ होटलों और अस्पतालों ने प्लास्टिक की पानी की बोतलों को इन इको-फ्रेंडली बोतल से बदलना शुरू कर दिया है। 

Hyderabad start-up introduces eco-friendly water boxes instead of plastic bottles dva
Author
Hyderabad, First Published Jul 3, 2021, 9:45 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क : पर्यावरण का संकट आज हमारे देश के लिए एक बड़ी चुनौती बनता जा रहा है। भले ही पूरे देश में सिंगल यूज प्लास्टिक बैन कर दी गई हो, लेकिन आज भी इसका उपयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है। प्लास्टिक की बोतल से लेकर रैपर तक हर चीज प्लास्टिक की बनी होती है। लेकिन इससे बचने और  बढ़ते प्लास्टिक कचरे को देखते हुए, हैदराबाद स्थित एक स्टार्ट-अप ने प्लास्टिक की पानी की बोतलों के बजाय ईको फ्रेंडली पानी के बॉक्स पेश किए है। पर्यावरण को बचाने की दिशा में इसे एक सराहनीय कदम माना जा रहा है। उनकी इस मुहिम को देखते हुए हैदराबाद के कुछ होटलों और अस्पतालों ने प्लास्टिक की पानी की बोतलों को इको-फ्रेंडली बोतल (Eco-Friendly) का यूज करना शुरू कर दिया है। आइए आपको बताते हैं इस कंपनी और इसके काम के बारे में...

कॉर्पोरेट नौकरी छोड़कर किया स्टार्ट-अप
दो टेक्निकल एक्सपर्ट सुनीथ तातिनेनी और चैतन्य अयिनपुडी ने प्लास्टिक कचरे को कम करने के उद्देश्य से स्टार्ट-अप 'कैरो वॉटर' की शुरुआत की है। जिसका मतलब होता है 'प्रिय पानी'। इस कंपनी को बनाने के लिए दोनों ने अपनी कॉर्पोरेट नौकरी छोड़ दी। कैरो वॉटर के सह-संस्थापक सुनीथ तातिनेनी ने कहा, 'लंबी दूरी की यात्रा करने वाला व्यक्ति कम से कम एक लीटर पानी की 5 बोतलें खरीदता है। इनमें से 10 प्रतिशत से भी कम प्लास्टिक की बोतलों को रिसाइकिल किया जा रहा है, जबकि बाकी को लैंड फिलिंग में खत्म किया जा रहा है। यह एक गंभीर मुद्दा है। इस समस्या का समाधान निकालने के लिए, हमने कार्डबोर्ड बॉक्स का उपयोग करके पानी पैक करना शुरू कर दिया है, जिसमें पोषण से भरपूर पानी को रिसाइकिल करने योग्य बैग-इन-बॉक्स बैग में भरा जाता है।'

कैसे आया इसका आइडिया
कैरो वाटर के सह-संस्थापक, चैतन्य अयिनपुडी ने कहा, 'पर्यावरण के अनुकूल बक्से में पीने का पानी भरने का विचार अपने आप में अनूठा और देश में अपनी तरह का पहला है। कंपनी की स्थापना के बाद से पिछली दो तिमाहियों में, हमने 20-लीटर पानी के लगभग 8000 बक्से बेच हैं।'

इस तरह पैक किया जाता है पानी
कैरो वॉटर के संस्थापक ने बताया कि 'ये बॉक्स और बैग पर्यावरण के अनुकूल यानी ईको फ्रेंडली हैं और इन्हें रिसाइकिल किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी ने शहर में रीसाइक्लिंग इकाइयों के साथ करार किया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि इन बक्सों से धरती या पर्यावरण को कुछ नुकसान ना हो।' उन्होंने कहा कि 'बक्से के अंदर रिसाइकल किया जाने वाला कार्डबोर्ड और पानी की थैलियों का उपयोग करके इसे पैक किया जाता है।' 

75 रुपये में मिलेगा 5 लीटर पानी
ये पानी के डिब्बे 5 लीटर और 20 लीटर के दो बॉक्स में उपलब्ध है। जिसकी कीमत क्रमश: 75 रुपये और 120 रुपये है। चैतन्य ने बताया कि' जमीनी स्तर पर बदलाव लाने के लिए उन्होंने अस्पतालों, होटलों और छोटी-छोटी पार्टियों पर अधिक ध्यान केंद्रित किया है जहां प्लास्टिक कचरा हमेशा ढेर होता है। वहीं हैदराबाद और उसके आसपास के कुछ होटलों और अस्पतालों ने प्लास्टिक की पानी की बोतलों को इन इको-फ्रेंडली बोतल से बदलना शुरू कर दिया है।' उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि ऐसा बदलाव हर जगह आए।

ये भी पढ़ें- पोस्ट ऑफिस की इन 6 सेविंग स्कीम पर लगाए अपना पैसा, कुछ सालों में हो जाएंगे डबल

अब बिना डिग्री के भी कमा सकते है लाखों रुपये, जानें भारत में ऐसी 8 जॉब्स जिसमें नहीं है पढ़ाई की जरूरत

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios