Asianet News Hindi

अलीबाबा के जैक मा लाने जा रहे हैं दुनिया का सबसे बड़ा IPO, यह सऊदी अरामको को भी छोड़ देगा पीछे

दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में एक चीन के अलीबाबा ग्रुप (Ali Baba Group) के जैक मा (Jack Ma) दुनिया का सबसे बड़ा आईपीओ (IPO) लाने जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, जैक मा के अलीबाबा ग्रुप का एफलिएटेड एंट ग्रुप (ANT Group) यह आईपीओ लाएगा।

Jack Ma Ali Baba ant group is launching biggest IPO, larger than Saudi Aramco MJA
Author
New Delhi, First Published Oct 17, 2020, 2:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में एक चीन के अलीबाबा ग्रुप (Ali Baba Group) के जैक मा (Jack Ma) दुनिया का सबसे बड़ा आईपीओ (IPO) लाने जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, जैक मा के अलीबाबा ग्रुप का एफलिएटेड एंट ग्रुप (ANT Group) यह आईपीओ लाएगा। यह आईपीओ 35 अरब डॉलर (करीब 2.56 लाख करोड़ रुपए) का होगा। कंपनी के शेयर हांगकांग और शंघाई के स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट होंगे। यह आईपीओ कितना बड़ा है, इसका अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि भारत में पिछले 5 साल से जारी 100 आईपीओ से ज्यादा के बराबर यह अकेला आईपीओ होगा। 

सऊदी अरामको को भी छोड़ देगा पीछे
जैक मा की कंपनी एंट ग्रुप (ANT Group) का यह आईपीओ सऊदी अरामको (Saudi Aramco) को भी पीछे छोड़ देगा, जो दुनिया की सबसे बड़ी वित्तीय कंपनियों में एक है। ब्रिटिश मल्टीनेशनल इन्वेस्टमेंट और फाइनेंशियल सर्विसेस कंपनी बार्कलेज (Barclays), आईसीबीसी इंटरनेशनल (ICBC International) और बैंक ऑफ चाइना (Bank of China) इसके बुक-रनर्स हैं। हांगकांग में सीआईसीसी, सिटी ग्रुप, जेपी मॉर्गन और मॉर्गन स्टेनली इसे स्पॉन्सर कर रहे हैं। वहीं, शंघाई में सीआईसीसी और चाइना सिक्योरिटीज का स्पॉन्सरशिप इसे मिला है।

250 अरब डॉलर वैल्यूएशन वाली बन सकती है कंपनी
चीनी अरबपति जैक मा की अलीबाबा का एफिलिएट एंट ग्रुप का स्थान दुनिया की सबसे वैल्यूएबल फिनटेक कंपनियों में है। यह अपनी वैल्यूएशन को 250 अरब डॉलर तक ले जाना चाहती है। बता दें कि मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज इसी साल जून में 150 अरब डॉलर के मार्केट कैपिटल वाली पहली भारतीय कंपनी बनी है। 

क्या है एंट ग्रुप
दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा को जैक मा ने 1999 में शुरू किया था। जैक मा आज दुनिया के सबसे धनी लोगों में शामिल हैं। 2011 में जैक मा ने अलीबाबा का पेमेंट्स प्लेटफॉर्म अलीपे शुरू किया। साल 2014 में एंट फाइनेंशियल की स्थापना हुई। इसमें अलीबाबा की हिस्सेदारी 50.5 फीसदी है। अलीपे के 1 अरब से ज्यादा यूजर हैं। चीन के डिजिटल पेमेंट मार्केट में इसकी हिस्सेदारी 55 फीसदी है। यह एक सुपर ऐप की तरह काम करता है और खरीददारी से लेकर लोन लेने और किसी भी तरह का पेमेंट करने में इसका इस्तेमाल किया जाता है।

कोरोना महामारी के दौर में हुई कितनी कमाई
कोरोना महामारी की वजह से जब पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था मंदी के दौर से गुजर रही है, एंट ग्रुप ने साल 2020 की पहली छमाही में 10.5 अरब डॉलर का रेवेन्यू कमाया। इसे 3.2 अरब डॉलर का मुनाफा हुआ। साल 2019 में भी अलीपे ने लोगों के अकाउंट में 290 अरब डॉलर क्रेडिट किए थे। कंपनी ने 16 लाख करोड़ का लेन-देन किया था, जो साल 2018 के मुकाबले 20 फीसदी ज्यादा था। साल 2015 में कंपनी ने 20 अरब डॉलर जुटाए थे। साल 2018 में कंपनी का वैल्यूएशन 150 अरब डॉलर हो चुका था। इसमें इन्वेस्ट करने वाली कंपनियों में चाइना इन्वेस्टमेंट कॉर्प, टेमासेक होल्डिंग्स, सिल्वर लेक, ब्लैकरॉक, जनरल अटलांटिक और वारबर्ग पिनकस शामिल हैं।

इन्वेस्टर्स ले रहे हैं इंटरेस्ट
जैक मा की कंपनी के आने वाले इस आईपीओ में इन्वेस्टर्स काफी इंटरेस्ट ले रहे हैं। इसके लिए 5 फंड्स बने हैं, जो दो हफ्ते के सब्सक्रिप्शन पीरियड में 8.8 अरब डॉलर के फंड को टारगेट कर रहे हैं। जहां तक अमेरिकी इन्वेस्टर्स का सवाल है, चीन और ट्रम्प प्रशासन के बीच चल रही तनातनी की वजह से संभव है कि वे इस आईपीओ में हिस्सेदारी नहीं करें। 

  
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios