Asianet News HindiAsianet News Hindi

ट्रंप के इस कदम से कार निर्माता कंपनियों की दिक्कतें बढ़ीं, जर्मनी और जापान को राहत के आसार

 ट्रंप आयातित वाहनों पर शुल्क लगाने के फैसले पर बहुत जल्द घोषणा करेंगे। राष्ट्रीय सुधार के आधार पर अतिरिक्त शुल्क लगाने की सिफारिश की गई ।  सूत्रों के मुताबिक इसे जुड़े अगले छह महीने के लिए टाला जा सकता है।

May Trump will US Impose 25% Tariffs on Auto Imports 'Very Soon'.
Author
Washington D.C., First Published Nov 14, 2019, 7:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आयातित वाहनों पर शुल्क लगाने के अपने फैसले की घोषणा " बहुत जल्द " करेंगे। ट्रंप ने इस बात को कोई संकेत नहीं दिया है कि उनका फैसला क्या होगा। हालांकि , उद्योग से जुड़े सूत्रों ने बताया कि शुल्क को अगले छह महीने के लिए टाला जा सकता है।

 

May Trump will US Impose 25% Tariffs on Auto Imports 'Very Soon'.

आयात पर 25 प्रतिशत का शुल्क

अमेरिकी राष्ट्रपति ने बुधवार को व्हाइट हाउस में संवाददाताओं को बताया , " मैं जल्द ही एक निष्पक्ष निर्णय लूंगा। मुझे पूरी जानकारी दी गई है। " ट्रंप पिछले साल से वाहनों के आयात पर 25 प्रतिशत का शुल्क लगाने की धमकी दे रहे हैं। वाहनों पर शुल्क लगाने की धमकी से जर्मनी की वाहन निर्माता कंपनियां परेशान हैं। हालांकि , जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि ट्रंप ने जापान के निर्यात को कुछ राहत देने का वादा किया है।

 

May Trump will US Impose 25% Tariffs on Auto Imports 'Very Soon'.

अमेरिकी कंपनियों के लिए दिक्कत

वाणिज्य विभाग ने फरवरी में ट्रंप को एक रिपोर्ट दी थी , जिसमें अमेरिकी वाहन कंपनियों के लिए खतरों को उजागर किया था और राष्ट्रीय सुधार के आधार पर अतिरिक्त शुल्क लगाने की सिफारिश की गई थी। हालांकि , ट्रंप ने इस कदम को 180 दिनों के लिए टाल दिया था। यह अवधि बुधवार को समाप्त हो गई। वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि यूरोपीय संघ , जापान और अन्य देशों के वाहन निर्माताओं के साथ " सार्थक बातचीत " के बाद शुल्क लगाना जरूरी नहीं है।

उद्योग से जुड़े दो सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएफपी से मंगलवार को कहा कि ट्रंप सरकार शुल्क से बचने के लिए संभावित समझौते के हिस्से के रूप में रियायत पर जोर दे रहा है। इससे अमेरिका में निवेश बढ़ाने में मदद मिलेगी।


(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।) 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios