Asianet News HindiAsianet News Hindi

रक्षा विभाग ने बैंक ऑफ बड़ौदा और एचडीएफसी बैंक के साथ किया करार, पूरे भारत में बनेगा पेंशन सेवा केंद्र

रक्षा लेखा विभाग ने बैंक ऑफ बड़ौदा और एचडीएफसी बैंक के साथ एक एमओयू पर साइन किया है। इससे पूरे भारत में 14000 से भी ज्यादा ब्रांच में पेंशन प्रशासन प्रणाली (स्पर्श) पहल के जरिये सेवा केंद्र बनाए जा सकेंगे। 

Ministry of Defence signs MoU with Bank of Baroda and HDFC Bank to expand the reach of SPARSH initiative know details MAA
Author
First Published Sep 21, 2022, 6:00 PM IST

बिजनेस डेस्कः रक्षा लेखा विभाग ने बुधवार को बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank OF Baroda) और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) के साथ एक समझौता ज्ञापन (MOU) पर हस्ताक्षर किया। इसके तहत पूरे भारत में 14000 से अधिक शाखाओं में पेंशन प्रशासन प्रणाली पहल (Pension Administration Initiative) (स्पर्श) (Sparsh) के तहत सेवा केंद्र बनाए जा सकेंगे। रक्षा सचिव डॉ अजय कुमार, वित्तीय सलाहकार (रक्षा सेवाएं) रसिका चौबे और रक्षा लेखा महानियंत्रक (सीजीडीए) अविनाश दीक्षित की उपस्थिति में शाम देव, रक्षा लेखा नियंत्रक (सीडीए) पेंशन द्वारा समझौता ज्ञापन पर साइन किया गया। पीसीडीए (पेंशन) प्रयागराज और बैंक ऑफ बड़ौदा और एचडीएफसी बैंक के वरिष्ठ अधिकारी भी इस दौरान मौके पर मौजूद थे।

स्पर्श से जुड़ेंगे पेंशनर्स
रक्षा सचिव डॉ अजय कुमार ने कहा कि सितंबर, 2022 के अंत तक कुल 32 लाख रक्षा पेंशनरों में से 17 लाख पेंशनभोगियों को स्पर्श पहल के साथ जोड़ने का लक्ष्य है। शेष पेंशनभोगियों को जल्द से जल्द स्पर्श के साथ जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि पेंशन सेटलमेंट में औसत समय काफी कम होकर करीब 16 दिन रह गया है।

कई पेंशनभोगियों को हागा फायदा
एमओयू बैंक ऑफ बड़ौदा की 7900 से अधिक शाखाओं और एचडीएफसी बैंक की 6300 शाखाओं को सेवा केंद्रों के रूप में जोड़ देगा। पेंशनभोगियों को अंतिम समय में कनेक्टिविटी भी प्रदान की जाएगी। विशेष रूप से जो देश के दूरदराज के क्षेत्रों में रहते हैं और जिनके पास साधन या तकनीकी साधन नहीं है उनके लिए स्पर्श में लॉगऑन करने के लिए यह फायदेमंद साबित होगा। इन पेंशनभोगियों के लिए, सेवा केंद्र स्पर्श के लिए एक इंटरफेस बन जाएंगे और पेंशनभोगियों को प्रोफाइल अपडेट अनुरोध करने, शिकायत दर्ज करने और डिजिटल वार्षिक पहचान, पेंशनभोगी डेटा सत्यापन या उनकी मासिक पेंशन के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए एक प्रभावी माध्यम प्रदान करेंगे।

यह भी पढ़ें- Ratan Tata को PM Cares Fund का बनाया गया ट्रस्टी, इन दिग्गजों को भी किया गया शामिल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios